अन्य

    नालंदा इंजीनियरिंग कॉलेज में नकल करने से रोका तो यूं गुंडागर्दी पर उतरे विम्स पावापुरी के मेडिकल छात्र

    बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। चंडी स्थित नालंदा इंजीनियरिंग कॉलेज में विम्स पावापुरी के छात्रों की चल रही परीक्षा नुराकुश्ती में बदल गई। नालंदा इंजीनियरिंग कॉलेज अचानक रणक्षेत्र में बदल गया।

    छात्रों ने परीक्षा देने के बजाए कालेज में जमकर उत्पात मचाया। मेडिकल और इंजीनियरिंग छात्रों के भिड़ंत से परिसर में भगदड़ सी मच गई।

    बताया जाता है कि नालंदा इंजीनियरिंग कॉलेज में विम्स पावापुरी के छात्रों का थर्ड ईयर का प्रोफेशनल परीक्षा चल रही है। पावापुरी के छात्र परीक्षा में नकल करना चाह रहे थे, लेकिन इंजीनियरिंग कॉलेज के प्राध्यापकों की सख्ती की वजह से उनकी दाल नहीं गल पा रही थी।

    छात्र परीक्षा में नकल से बाज नहीं आ रहे थे। प्राध्यापक उन्हें रोक रहे थे। इसी बीच छात्र उन्हें उतंडता से पेश आने लगे।

    यह देखकर नालंदा इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र अपने शिक्षकों के बचाव में आकर छात्रों की हरकत का विरोध करने लगे। इससे विम्स के छात्र आग बबूला हो उठे और स्थानीय छात्रों से भिड़ गए।

    फिर क्या था। देखते ही दोनों पक्षों में कहासुनी होते मामला मारपीट पर आ गई। दोनों ओर से छात्र भिड़ गए। कुछ देर पहले जहां कालेज में परीक्षा चल रही थी वह कालेज परिसर छात्रों का अखाड़ा बन चुका था। छात्र इधर उधर भागने लगे।

    घटना की सूचना पाकर चंडी पुलिस पहुंची। थानाध्यक्ष अभय कुमार ने विम्स के छात्रों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि वे सभी कालेज परिसर से निकल जाएं, नहीं तो उनपर कार्रवाई की जाएगी।

    पुलिस की भारी बल और चेतावनी को देखते हुए छात्र कालेज परिसर से निकल गये। फिलहाल पुलिस के हस्तक्षेप से मामला निपट गया है।

    Comments