जदयू विधायक-नेत्री ने यूं उड़ाई लॉकडाउन-3 की धज्जियाँ, पुलिस-प्रशासन बेखबर

0

राजगीर (नालंदा दर्पण)। बिहार में आम विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटे आयोग-तंत्र को सीएम नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा में उनके ही उदंड नेताओं-कार्यकर्ताओं के मानसिकता ही आंकलन करना शुरु कर देनी चाहिए, यदि कोरोना जैसी जानलेवा संक्रमण बीमारी का दौर थमा नहीं तो आलम क्या होगा।

JDU MLA ASHTHAWA RAJGIR UNLOCK 3 GADRING 4 – Nalanda Darpan / नालंदा दर्पण : गाँव-जेवार की बात। – गाँव-जेवार की बात।अस्थावां से जदयू विधायक डॉ जितेंद्र कुमार की सभा में अनलॉक-3 की जमकर धज्जियां उड़ाई गई और वहां पुलिस-प्रशासन के लोग दांत निपोड़ते दिखे। क्योंकि जब ऐसे जन सैलाबी कार्यक्रम सरकारी दल से जुड़े लोगों के हों तो कर्महीन अफसरों में इतनी हिम्मत कहां कि अपने आका के मुलाजिमों की खबर ले।

वहीं अगर कोई आम या विरोधी दल के ऐसे कार्यक्रम होते तो पुलिस लाठियां बरसाती। अनठेकान लोगों पर मुकदमें करती और फिर सबसे वसूली।

JDU MLA ASHTHAWA RAJGIR UNLOCK 3 GADRING 3 – Nalanda Darpan / नालंदा दर्पण : गाँव-जेवार की बात। – गाँव-जेवार की बात।कहते हैं कि अस्थावां के पढ़े-लिखे-डॉक्टर जदयू विधायक ने बिंद क्षेत्र में अनलॉक-3 की मां-बहन एक करते हुए पांच सौ से अधिक बाइक सवारों की रैली निकलवाई। बेतरतीब ढंग से कर सामूहिक भोज करवाए।

वहीं जिला जदयू महिला प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मुन्नी देवी ने राजगीर विधानसभा क्षेत्र के गिरियक प्रखण्ड के शिव पैलेस में सभी बूथो के सखी-कार्यकताओं के साथ बैठक की।  इस बैठक में भी लॉकडाउन-सोशलडिस्टेंस सब हवा में रहे। ऐसी अराजकता, मानों जदयू चीफ संप्रति सीएम नीतीश कुमार से सीधे लाइंसेंस मिले हों। यहां भी पुलिस-प्रशासन को सूचना के देने के बाबजूद कोई झांकने नहीं आए।JDU MLA ASHTHAWA RAJGIR UNLOCK 3 GADRING 1 – Nalanda Darpan / नालंदा दर्पण : गाँव-जेवार की बात। – गाँव-जेवार की बात।

आश्चर्य है कि अनलॉक-3 में जहां स्कूल-क़लेज, धार्मिक-सांस्कृतिक आयोजन आदि सब बंद है, वहीं सत्ताधारी दल-तंत्र के ऐसे प्रदर्शन के आखिर क्या मायने निकाले जाएं।

एक तरफ गिरियक मे महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष 300 कार्यकर्ता की मजमा लगा नस्ता-पैकेट बंटवाई, वहीं जदयू के अस्थावाँ विधायक ने 500 लोगों की अफरातफरी में भोज क आयोजन करवाए।

अब देखना है कि नालंदा जिला-पुलिस प्रशासन ऐसे राजनीतिक आयोजनों पर कोई कार्रवाई करती भी है या नहीं। अन्यथा, एक ऐसी अराजकता फैलनी तय है, जिसमें सबके नियत और नियति के राख ही ढूंढे जाएंगे।

Previous article3 दिन से लापता छात्र की हत्या कर छबिलापुर थाना के पास फेंका !
Next articleबिना शिलान्यास वैरंग बापस लौटे सीएम नीतीश के चहेते ‘अनलॉक’ मंत्री !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here