अन्य

    राजगीर थानेदार के खिलाफ सर्वदलीय बैठक, समाजसेवकों पर दर्ज फर्जी मुकदमा का विरोध

    राजगीर (नालंदा दर्पण)। आज अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन नगरी राजगीर के बड़ी संगत में समाजवादी नेता उमराव प्रसाद निर्मल की अध्यक्षता में एक सर्वदलीय बैठक हुई, जिसमें विगत 22 जुलाई को हुए भीषण सड़क हादसा में 4 युवकों की मौत के बाद थानेदार द्वारा दर्ज फर्जी मुकदमा का विरोध किया गया।

    बताया जाता है कि अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थल राजगीर में बीते 22 जुलाई 2021 को राजगीर के चार युवकों को सड़क हादसे में हुई मौत को लेकर विगत 23 जुलाई  को हनुमान चौक पर राजगीर में मुआवजा दिलाने को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे।

    इसके उपरांत राजगीर थानाध्यक्ष दीपक कुमार ने कांड संख्या 250/ 21 दिनांक: 24 /7/ 2021 को एक साजिश के तहत 4 निर्दोष समाज सेवकों पर मुकदमा दर्ज कर दी है, जिनमें न्यूज कवरेज कर रहे मीडियाकर्मी भी शामिल हैं, उसी के विरोध में राजद, कांग्रेस, भाजपा, जदयू ,लोजपा, भाकपा, माकपा सहित विभिन्न दलों के नेताओं बुद्धिजीवियों, समाजसेवियों ने सर्वदलीय बैठक की।

    इस बैठक की अध्यक्षता करते हुए समाजवादी नेता उमराव प्रसाद निर्मल ने कहा कि लोकतंत्र में अपने हक और अधिकार के लिए संवैधानिक तरीके से संघर्ष करना देश के हर नागरिक का नैतिक अधिकार व  कर्तव्य है।

    उन्होंने कहा कि जि 4 लोगों के ऊपर फर्जी तरीके से मुकदमा की गई है, वे लोग राजगीर के हर समाजिक कार्यों में अग्रसर रहते हैं। लेकिन एक साजिश के तहत वैसे लोगों को मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का प्रयास किया जा रहा है, जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

    वहीं बिहार प्रदेश असंगठित कामगार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर अमित कुमार पासवान ने कहा कि समाज सेवक और मीडियाकर्मी समाज का दर्पण होता है। पुलिस पब्लिक समाज सेवक व जनप्रतिनिधियों के सामंजस्य से जिला राज व देश का सर्वांगीण विकास संभव है।

    लेकिन समाज के कुछ दलाल, बिचौलिया लोग समाज के सामाजिक समरसता व सौहार्दपूर्ण वातावरण को खराब कर प्रशासन की नजर में चाहते बनकर रहना चाहते हैं, समाज उसे कभी माफ नहीं करेगा।

    बैठकोपरांत जदयू सेवादल के प्रदेश उपाध्यक्ष आशुतोष कुमार ने कहा कि उक्त मामला को लेकर पुलिस उपाधीक्षक एवं पुलिस अधीक्षक से मिलकर मामला को अवगत कराया जायेग।

    पूर्व वार्ड पार्षद श्यामदेव राजवंशी ने कहा कि अगर फर्जी मुकदमा को वापस नहीं लिया गया तो अगले बैठक में चरणबद्ध तरीके से आंदोलन करने का निर्णय लिया जाएगा।

    भाजपा के ओबीसी मोर्चा के जिला मंत्री एवं राजगीर व्यवसायिक संघ के अध्यक्ष सुबोध कुमार मोदी ने कहा कि इस मामले को लेकर बिहार सरकार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मानवाधिकार आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष, राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष, एवं अति पिछड़ा आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष को पत्र लिखकर मामला से अवगत कराया जाएगा।

    इस अवसर पर मुखिया मंजू देवी, राजद नेता अशोक यादव, ओम प्रकाश गोस्वामी, कमलेश कुमार, उमेश भगत, सुरेंद्र प्रसाद, पंकज यादव, युवा राजद के जिला उपाध्यक्ष  सोनू यादव, छोटू पासवान, कौशल कुमार आदि लोग मौजूद थे। 

    इस बैठक की शुरुआत शामिल लोगों ने जरा मंदिर के पास हुए सड़क हादसा में मृत सभी चार युवकों के आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन भी रखा।