अन्य

    नए कृषि कानून बिल के खिलाफ चक्का जाम कर लगाए सरकार विरोधी नारे

    इसलामपुर (नालंदा दर्पण)। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आवाहन पर माले, इनौस, कांग्रेस, सीपीआई की ओर से किसान विरोधी नए कानून रद्द करने, किसान नेताओं पर लादे गए फर्जी मुकदमा वापस लेने एवं फर्जी मुकदमा में जेलबंद तमाम किसानों-पत्रकारो को बिना शर्त रिहा करने आदि की मांगों को लेकर नगर के  काली स्थान के पास एक घंटे तक देशव्यापी चक्का जाम करते हुए सरकार विरोधी नारेबाजी की।

    इस दौरान माले पार्टी के प्रखंड सचिव उमेश पासवान ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा किसानों के खिलाफ में तीन काले कानून बनाए गए हैं। जिससे बड़े पूंजीपतियों द्वारा किसानों को गुलाम बना दिया जायेगा और किसानों से अपने जमीन पर ही मजदूरी करवाया जाएगा।

    उन्हेंने कहा कि करीब ढाई महीनों से किसान खुले आसमान में कंपकंपाती ठंड में लोकतांत्रिक तरीके से दिल्ली के चारों तरफ धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। जिसमें सैकड़ों किसान अपनी शहादत दे चुके हैं। फिर भी केंद्र सरकार तीनों किसान विरोधी काला कानून वापस नहीं कर रहे हैं। इससे किसानों में व्याप्त आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है।

    इस मौके पर माले नेता महेन्द्र अमरनाथ, इनौस जिला सचिव शत्रुधन कुमार, शांति देवी, जयप्रकाश प्रसाद, जयपाल पासवास, इमरान जमील, अखिलेश चौहान, परमानन्द प्रसाद, सीपीआई अंचल मंत्री अनिल प्रसाद  सिंह, कॉग्रेस के सर्वेश प्रसाद आदि लोग शामिल थे।

    Comments

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here