अन्य

    भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने यूं मनाया अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस, कहा….

    “जबसे देश की कुर्सी पर नरेन्द्र मोदी की सरकार बैठी है, तब से हहाकार मच गया है, देश में पहले से मजदूरों के हालात ठीक नहीं है, रोजगार का साधन नहीं है बाबजूद इसके नोट बंदी, जीएसटी विधेयक पास कराकर करोड़ों लोगों का रोजगार खत्म कर दिया जिससे देश की आर्थिक स्थिति खराब हो गया है…

    चंडी (नालंदा दर्पण)। अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस के मौके पर भाकपा माले के रूपसपुर ब्रांच कमिटी ने मजदूर दिवस मनाया।

    इस मौके पर इंकलाबी नौजवान सभा नालंदा के जिलाध्यक्ष कॉमरेड विरेश कुमार ने कहा है कि दुनिया के निर्माणकर्ता मजदूर होते हैं, पर हमारे देश में मजदूरों के हक को मारा जा रहा है, देश में एनडीए सरकार नरेन्द्र मोदी ने मजदूरों के 44 श्रम कानून को खत्म करके 4 कोड बनाया है और काम का समय 12 घंटा बनाया है, जिसे भाकपा माले कड़ी निंदा करते हुए रद्द करने की मांग करता है। साथ ही काम करने की समय 8 घंटा मांग करता है।

    उन्होंने कहा कि पिछले 2020 में पूरे दुनिया समेत भारत में कोरोना बीमारी से हाहाकार मच गया। उसके बाबजूद भी सरकार देश के आवाम को बचाने के बजाय एनडीए सरकार विधायक खरीदने में और चुनाव कराने में व्यस्त था, अब देश की हालात इतनी खराब हो गई है कि सरकार के गलत नीतियों और कुव्यवस्था के वजह से प्रतिदिन लाखों लोगों की जान गवाना पड़ रहा है।

    पिछले वर्ष कोरोना महामारी के नाम पर पीएम केयर कोष बनाया गया जिसमें 2000 करोड़ रुपया जमा हुआ, फिर भी देश के अस्पतालों की व्यवस्था दुरुस्त नहीं किया गया जिसका खामियाजा देश के आम नागरिक को भुगतना पड़ रहा है,आज दुनिया के कई देशों से ऑक्सीजन मदद मांगना पड़ रहा है।

     इसलिए भाकपा माले मोदी सरकार के इन सारी गलत नीतियों की कड़ी निंदा करते हुए मांग करता है कि:

     देश के तमाम सरकारी व निजी अस्पतालों में कोविड 19 का इलाज मुफ्त में प्रारंभ करे। कोविड 19 से मरने वाले सभी व्यक्ति के आश्रित को 20-20 लाख रुपया मुआवजा व एक एक परिवार को नौकरी दे सरकार।

    अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस के मौके पर सुधीर रविदास, रामप्रवेश रविदास, स्वारथ रविदास, रामश्रृगांर रविदास, संजीव रविदास, विजय कृष्णा, रिपु कुमार, रंजन रविदास, सुनील रविदास, गुड्डू कुमार, मनीष कुमार, नीशु कुमार, रोहित कुमार, रौशन कुमार आदि कार्यकर्ता ने‌ अपने विचार व्यक्त किए।

    Comments

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.