अन्य

    बदमाशों का पत्रकार पर हमला, भीड़ ने बचाई जान, हालत गंभीर

    बिहारशरीफ (तालीब)। बिहार के सीएम नीतीश कुमार  के गृह जिले में अपराधी बेलगाम हैं। निर्वाचित जनप्रतिनिधियों और पुलिस तंत्र की सांठ-गांठ से इनका मनोबल इतना बढ़ गया है कि वे मीडिया कर्मियों को भी नहीं बख्श रहे हैं। यहाँ प्रायः मीडियाकर्मियों की जमात भी वैसे बदमाशों को ही तेल लगाते दिखते हैं।

    खबर है कि बीती रात अस्थावां थाना क्षेत्र के माफी गांव में एक न्यूज चैनल से जुड़े पत्रकार आरजू बख्श के साथ दर्जन भर बदमाशों ने बुरी तरह से मारपीट की। इस दौरान वे गंभीर रुप से जख्मी हो गए। बदमाशों ने उनके रिवाइल्वर की बट से सिर पर दे मारा।

    आरजू बख्श के अनुसार घातक हथियारों से लैश सारे बदमाश उन्हें जान मारने के लिए ले जा रहे थे कि इसी बीच गाँव वालों की भीड़ दौड़ कर आई और उन्हें किसी तरह बचाकर अस्थावां प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ले गए, जहाँ से उन्हें गंभीर हालत में बिहार शरीफ सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया।

    एपीएन संवाददाता आरजु बख्स ने बताया कि बीती रात वे अपने गांव माफी जा रहे थे और जैसे ही गाँव स्थित मैरेज हॉल के पास पहुँचे तो वहाँ पहले से घात लगाये दर्जन भर बबदमाशों ने अचानक हमला बोल दिया।

    उसके बाद हथियार के बट और लोहे के रड से मार कर बुरी तरह जख्मी कर दिया। उसके बाद वे सारे बदमाश जान मारने के लिए उठा कर साथ ले जा रहे थे कि शोर सुनकर गाँव की ओर से आते भीड़ को देख सारे बदमाश फायरिंग करते हुए भाग गए।

    हमलावर बदमाशों में मोनु खान, राजन खान, तारिख खान, सादीक खान, आदि लोग शामिल थे। इसमें गैंग लीडर मोनू खान हाल में ही गया जेल से जमानत पर छुट कर आया है।

    इधर उनकी नाजुक हालत को देखते हुए बिहार शरीफ सदर अस्पताल से रेफर कर दिया गया और फिलहाल उनका ईलाज एक नीजि अस्पताल में चल रहा है।

    इसी बीच डीएसपी डॉ. सिब्ली नोमानी ईलाजरत आरजू बख्श से मिलने अस्पताल पहुंचे और बदमाशों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिलाया है। हालांकि इस वारदात में अस्थावां पुलिस की मिलीभगत होने की बात सामने आ रही है।

    [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=hIiVMvgHR7k[/embedyt]

    Comments