अन्य

    स्कॉर्पियो की टक्कर से स्कूटी सवार बाप-बेटा की मौत, बवाल, सड़क जाम, दारोगा को पीटा

    "पिता-पुत्र की मौत से बौखलाई भीड़ चालक की पिटाई कर रही थी। मौके पर पहुंची पुलिस चालक को भीड़ से बचाने का प्रयास की तो भीड़ ने दारोगा को पिटाई कर जख्मी कर दिया......

    रहुई (नालंदा दर्पण)। रहुई थाना के डिहरा गांव के समीप बिहटा मार्ग पर स्कॉर्पियो की टक्कर से स्कूटी सवार पिता-पुत्र की मौत हो गई। जबकि, एक युवक जख्मी हो गया। घटना के बाद आक्रोशितों ने जमकर बवाल काटा और स्कॉर्पियो चालक की पिटाई करते हुए वाहन को क्षतिग्रस्त कर दिया गया और मुआवजा की मांग करते हुए उग्र भीड़ ने सड़क पर लाश रख जाम लगा दिया गया।

    हंगामा की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंच गई। चालक को बचाने के प्रयास में आक्रोशितों ने पुलिस की पिटाई कर दी। जिसमें एक दारोगा जख्मी हो गए। हंगामा बढ़ने पर विधि व्यवस्था डीएसपी मौके पर आ गए।

    करीब तीन घंटे बाद किसी तरह पुलिस आक्रोशितों को शांत कराने में सफल हुई। लोग थानेदार पर दो सवारों को भगाने का आरोप लगा रहे थे।

    मृतक की पहचान मानपुर थाना क्षेत्र के बिलासपुर गांव निवासी 68 वर्षीय देवनंदन प्रसाद और उनके 45 वर्षीय पुत्र विनय प्रसाद उर्फ कृष्ण मुरारी के रूप में की गई। जख्मी विपुल कुमार को इलाज के लिए निजी क्लिनिक ले जाया गया।

    दो की मौत से ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया। भीड़ खदेड़कर चालक को पकड़ ली और उसकी पिटाई करने लगी। जबकि, दो सवार फरार होने में सफल रहा।

    आक्रोशितों ने रोड़ेबाजी कर वाहन को क्षतिग्रस्त कर दिया। इसके बाद शवों को सड़क पर रखकर बिहटा-सरमेरा मार्ग को जाम कर दिया। लोग ऑन द स्पॉट मुआवजा और फरार सवारों पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे।

    बुजुर्ग अपने पुत्र के साथ भांजा की शादी में शामिल होने डिहरा गांव आए थे। 9 को बारात जाने वाली थी। पिता-पुत्र एक युवक के साथ स्कूटी पर सवार हो बाजार जा रहे थे।

    उसी दौरान विपरीत दिशा से आ रही स्कॉर्पियों ने स्कूटी में जोरदार टक्कर मार दी। घटना में स्कूटी का परखच्चा उड़ गया और स्कॉर्पियो खेत में चली गई। जिससे मौके पर ही पिता-पुत्र की दर्दनाक मौत हो गई। जबकि, तीसरा सवार जख्मी हो गया।

    विधि-व्यवस्था डीएसपी सुशील कुमार ने बताया कि हंगामा में एक दारोगा जख्मी हो गए हैं। वरीय अधिकारी के आदेश पर उपद्रवियों पर पुलिस केस दर्ज कर सकती है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिवार के हवाले कर दिया गया।

    भीड़ चालक की पिटाई कर रही थी। मौके पर पहुंची पुलिस चालक को भीड़ से बचाने का प्रयास की तो भीड़ ने दारोगा की पिटाई कर जख्मी दी।

    जख्मी दारोगा विनय भूषण को इलाज के लिए पीएचसी लाया गया। हंगामा बढ़ने पर डीएसपी आ गए। किसी तरह वरीय पदाधिकारी आक्रोशितों को शांत कराने में सफल हुए। तब करीब तीन घंटे बाद हंगामा शांत हुआ।

    कुआं से मिला जमीन कारोबारी पूर्व एसपीओ का शव, शराब माफिया द्वारा हत्या की आशंका

    हिलसा, चंडी, रहुई, बिहार, बिंद, पावापुरी थानेदार समेत 84 पुलिसकर्मी हुए इधर-उधर

    ताड़ी को निगल गई सरकारी नियमावली, नीरा केंद्र बनी शोभा की वस्तुताड़ी को निगल गई सरकारी नियमावली, नीरा केंद्र बनी शोभा की वस्तु

     राजगीरः पुलिस ने किराए के मकान से 11 साइबर ठगों को 2.62 लाख रुपए के साथ दबोचा

    इस पीड़िता की शिकायत पर नगरनौसा और चंडी थाना पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई