अन्य

    बिहार राज्य चौकीदार-दफादार पंचायत की बैठक में नालंदा एसपी पर लगे गंभीर आरोप, डीएम को सौंपा ज्ञापन

    बिहार शरीफ (नालंदा दर्पण)। आज जिला मुख्यालय बिहारशरीफ में बिहार राज्य चौकीदार पंचायत जिला इकाई की बैठक जिलाध्यक्ष अनंत कुमार की अध्यक्षता में हुई। जिसमें बतौर मुख्य अतिथि के रूप संगठन के राज्य सचिव डॉ. संत सिंह भी उपस्थित हुए।

    इस बैठक में दफादार-चौकीदारों की विभिन्न समस्याओं समेत पुलिस प्रशासन द्वारा दोहन के मुद्दे पर भी चर्चा हुई। साथ ही 23 और 24 मार्च को पटना में आहूत धरना प्रदर्शन को सफल बनाने का आह्वान किया गया।

    बैठक को राज्य सचिव डॉ संत सिंह ने संबोधित करते हुए जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के मिलीभगत की बात करते हुए दफादार चौकीदारों का दोहन करने का आरोप लगाया।

    उन्होंने पुलिस अधीक्षक, नालंदा पर भी पक्षपात करने का आरोप लगाया और कहा कि पुलिस अधीक्षक ने रहूई के चौकीदार चौधरी राम नगीना पासवान को निलंबित कर अपने ही आदेश का उल्लंघन किया है।

    उन्होंने कहा कि वित्तीय वर्ष 2019-20 और 2020-21 के वर्दी का आवंटन राज्य सरकार द्वारा भेजा गया है। लेकिन  गत दो वर्षों से जिला के किसी भी दफादार और चौकीदार को वर्दी नसीब नहीं हो सका है।

    उन्होंने कहा कि राज्य के सभी कर्मचारियों का वेतन वृद्धि जुलाई में ही जोड़ दिया गया है, उसका लाभ भी मिल गया लेकिन आजतक चौकीदार-दफादार को वेतन वृद्धि नहीं जोड़ा गया।

    उन्होंने दफादार-चौकीदारों को एसपी और एम एसीबी तथा प्रोन्नति लाभ देने की मांग की।

    डॉ संत सिंह ने 23-24 मार्च को पटना में आहूत दफादार-चौकीदारों के धरना-प्रदर्शन को सफल बनाने का आह्वान किया।

    इस बैठक में जिलाध्यक्ष अनंत कुमार ने कहा कि दफादार-चौकीदारों के संर्घष के बाद भी उनके बदन पर दो साल से वर्दी नसीब नहीं हो रही है। ऐसा लगता है जैसे जिला में वर्दी घोटाला हो गया है। अगर उनकी मांग पूरी नहीं की गई तो अगले महीने समाहरणालय पर तालाबंदी की जाएगी।

    इस बैठक में जिला उपाध्यक्ष साकेंद्र कुमार, जिला सचिव भूषण पासवान,फकीरा दास,रामजी यादव,मो मोकिन मल्लिक, बालेश्वर पासवान, अमित कुमार, अरविंद कुमार,पुनीत कुमार, उपेन्द्र प्रसाद, बीरबल पासवान (शेखपुरा), मुन्ना प्रसाद, महेंद्र प्रसाद, अवधेश पासवान, अशोक पासवान, संजीव कुमार, रामप्रवेश पासवान, सुमंत कुमार,दीपक सहित अन्य दफादार-चौकीदार शामिल हुए।

    बैठक के उपरांत दफादार-चौकीदारों का एक शिष्टमंडल डीएम से मिलकर अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा।