अन्य

    कहीं खेत तो कहीं खलिहान में अचानक लगी आग में किसानों की मेहनत राख

    चंडी /इसलामपुर (नालंदा दर्पण)। चंडी प्रखंड के जलालपुर में आधी रात बाद अचानक खलिहान में आग लग जाने से कई किसानों की फसल धू-धूकर जल गई। जिसमें लाखों की फसल जलकर स्वाहा हो गई।

    ग्रामीण जब नींद की आगोश में थे, तभी एक खलिहान में आधी रात बाद अचानक आग लग गई। किसी ने आग की लपटे देखकर शोर मचाना शुरू कर दिया। शोरगुल सुनकर लोग जाग उठे। लोगों ने देखा कि खलिहान में आग लगी हुई है।

    लोग अपनी फसल की पिंज बजाने के लिए दौड़े, लेकिन आग की लपटे देखकर उनका हिम्मत ज़बाब दे गया। लोग इधर उधर से पानी लाकर आग पर काबू पाने का प्रयास किया लेकिन विफल रहे।

    ग्रामीणों के हंगामे से पूर्व मुखिया कुमार चंद्र भूषण प्रसाद की भी नींद टूट गई। उन्होंने मौके पर पहुंच कर आग बुझाने की समुचित व्यवस्था की। तब जाकर गांव‌ वालों के सहयोग से आग पर काबू पाया गया तब तक देर हो चुकी थी।

    इस आगलगी में खलिहान में रखें पंकज कुमार, सुनील कुमार,नवल मिस्त्री और अनिल जमादार की मंसूर,चना और मटर के दाने की पिंज जलकर राख हो गई। जिसमें लाखों की क्षति का अनुमान लगाया जा रहा है।

    जिला परिषद सदस्या अनिता सिन्हा के बेटे चंद्र प्रकाश ने बताया कि आग की लपटें इतनी तेज थी कि उन लपटों में फसल की राख उनके तथा आसपास के घरों में आकर गिरने लगा। अगर सही समय पर लोगों की नींद नहीं टूटती तो भयावह नुकसान हो सकता था।

    पूर्व मुखिया ने पीड़ित किसानों के फसलों की क्षतिपूर्ति प्रदान करने की  मांग अधिकारियों से की है।

    आधा दर्जन किसानों की खेतों में तैयार गेहूं फसल आग में राख

    उधर, इसलामपुर प्रखंड के तेल्हाडा थाना के सोनियावां सैदपुर गांव खेत में लगी गेहूं फसल में आग लगने से आधा दर्जन किसानों की मेहनत जलकर राख हो गई। उस आग पर बड़ी मुश्किल दमकल से काबू पाया जा सका।

    दमकलकर्मी संदीप कुमार एंव धीरज कुमार ने बताया कि कामेश्वर प्रसाद के 15 कठा,कपीलदेव प्रसाद का 15 कठा, संतोष प्रसाद का 4 कठा, राजो प्रसाद का 3 कठा, सत्येंद्र प्रसाद का 2 कठा, भानु प्रसाद का 2 कठा खेत में लगी गेहूं की फसल में आग लगने से राख हो गया है। आग लगने का कारण पता नहीं चल सका है। लगी आग पर ग्रामीणों के सहयोग से काबू पाया जा सका है।

    Comments