अन्य

    एसपी ने नगरनौसा थानेदार नील कमल को किया सस्पेंड, नारदमुनि को सौंपा कार्य भार   

    बिहार शरीफ (नालंदा दर्पण)। नालंदा के एसपी हरिप्रसाद एस ने नगरनौसा थानाध्यक्ष नीलकमल को सस्पेंड कर दिया है। वहीं, सिलाव थाना में पदस्थापित दारोगा नारद मुनि को नगरनौसा का नया थानाध्यक्ष बनाया है।

    बता दें कि नालंदा जिले के नगरनौसा थाना इलाके में लूट की एक बड़ी घटना हुई थी। सकरौढा पुल के पास शुक्रवार की देर रात डकैतों ने बड़ी घटना को अंजाम दिया था।

    जानकारी के मुताबिक दर्जनभर हथियारबंद डकैत धनंजय प्रसाद के घर में घुस गए और हथियार के बल पर परिवार के सभी सदस्यों को पहले बंधक  बना लिया। बदमाशों ने एक परिवार को बंधक बनाकर लाखों की संपत्ति लूट ली थी।

    इतना ही नहीं घटना के दौरान लुटेरों ने घर में बैठकर शारब पी और महिलाओं के साथ बदसलूकी और मारपीट भी की। इस डकैती कांड में नगरनौसा थानेदार की घोर लापरवाही सामने आई थी। थानेदार नीलकमल ने जिले के वरीय पुलिस अधिकारियों को वारदात की जानकारी नहीं दी।

    जबकि, घटना के दौरान विरोध करने पर बदमाशों ने धनंजय प्रसाद की पत्नी, पुत्री और साली के साथ मारपीट और बदसलूकी की। पीड़ित धनंजय प्रसाद ने बताया कि उन्होंने अपनी बेटी की शादी के लिए गहने और रुपए इकट्ठा किए थे।

    डकैतों ने पिस्टल और छुरे-चाकू के बल पर उन सभी को बंधक बना लिया। फिर मारपीट करने लगे। जब उन्होंने इसका विरोध किया तो वे धनंजय की पत्नी, बेटी और साली के साथ बदतमीजी करने लगे।

    इस घटना के बाद स्थानीय लोगों ने शनिवार की सुबह बिहारशरीफ-पटना मार्ग को नगरनौसा बाजार के पास जाम कर काफी हंगामा किया था।

    घटना की सूचना मिलते ही डीएसपी और इंस्पेक्टर मौके पर पहुंचे और उन्होंने नाराज ग्रामीणों को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया। डकैती की इस घटना को अंजाम देकर सारे अपराधी मौके से भाग निकले थे। सुसमय सूचना के बाबजूद पुलिस लापरवाह रही।

    इसी मामले में नालंदा के एसपी हरिप्रसाद एस ने नगरनौसा थानाध्यक्ष के खिलाफ कड़ा एक्शन लेते हुए उसे सस्पेंड कर दिया है और आगे कार्रवाई का भी आदेश दिया है।

    Comments

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.