अन्य

    हवा के झोंके से यूं उड़ रही है महज प्रर्दशनी बनी नल जल की टंकी !

    नगरनौसा (राजीव रजंन)। नगरनौसा प्रखंड के दामोदरपुर बल्धा पंचायत के वार्ड संख्या 14 में निर्मित नल जल टावर पर प्रदर्शनी के लिए रखी टंकी हवा के झोंके से हवा में उड़ गई। टावर से जमीन पर गिरने की वजह से टूटकर बिखर गई।

    नगरनौसा प्रखण्ड क्षेत्र के असंख्य ऐसे नल जल टावर है, जिसपर टंकी को सिर्फ प्रर्दशनी के लिये लगाया गया है। क्योंकि ग्रामीणों को नल जल की आपूर्ति डायरेक्ट समरसेवुल से ही की जाती है। डर है कि कहीं पानी जाते ही टंकी भरभरा कर जमीन पर न गिर जाएं।

    प्रखंड में ऐसी घटनाएं हो चुकी है। जिसकी जानकारी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को भी है। प्रखण्ड वासियों में जगह जगह यह भी चर्चा सुनने को अक्सर ही मिलती रहती है कि प्रखण्ड के वरीय पदाधिकारी के मिलीभगत से मुख्यमंत्री के अति महत्वाकांक्षी योजनाओ में से एक नल जल योजना मे घोर अनियमितता बरती गई है और राशि की बंदरबाट की गई है।

    मजे कि बात तो यह है कि जो टंकी कल  हवा मे गिरकर क्षतिग्रस्त हुई नगरनौसा प्रखण्ड विकास पदाधिकारी यदि समय पर संज्ञान लेकर या तो टंकी को टावर से हटवाकर कहीं सुरक्षित जगह रखवा देते तो हवा की झोंके से उड़कर यू बर्बाद नहीं होती, क्योंकि इस प्रदर्शनी बन रही टंकी के संदर्भ में पिछले दो महीने ही अवगत करा दिया गया था। दूसरी ओर यह टंकी टावर मुखिया  के ठीक दरवाजे पर ही अवस्थित है।

    राजगीर बबुनी कांड : उपर वाले के घर देर है, अंधेर नहीं

     राजगीरः पर्यटक की हुई नृशंस हत्या मामले में 3 धराए

    बताते चलें कि दामोदरपुर बल्धा पंचायत के मुखिया को उत्कृष्ट कार्य के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

    प्रखण्डवासियों मे आजकल यह चर्चा का विषय बना हुया है कि मुख्यमंत्री को नगरनौसा प्रखण्ड में एक नल जल टंकी का संग्रहालय बनाकर प्रखण्ड क्षेत्र में सभी प्रदर्शनी बन रही टंकी को रखकर सुरक्षित रखा जाय, ताकि जनता की गाढी कमाई यू ही बर्वाद न हो।

    अब देखना दिलचस्प होगा कि इस संदर्भ में विभाग के वरीय पदाधिकारी शीघ्र संज्ञान लेकर कारवाई करते है या मामले को यूं ही रफा दफा कर देते हैं।

    Comments

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!