अन्य

    दीपक हत्याकांड का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, महज 30 हजार रुपए के लिए खंती से मार कर हुई थी हत्या

    "इस वारदात का मुख्य कारण है कि मृतक के द्वारा इनका मोटरसाइकिल एवं मोबाइल  गिरवी रखकर कर्ज लिए थे। जिसे चुकाने के लिए  काफी दवाब दे रहे थे। जिससे बचने के लिए उसे अपने किराए वाले मकान पर रुपया देने का बहाना बनाकर, उसे बुलाकर खंती से मारकर उसकी हत्या कर दिया एवं स्वयं  हाथ पैर बांधकर ट्रंक में डालकर, साक्ष छिपाने के दृष्टिकोण से भाड़े के ठेला पर उसे ले जाकर दीपनगर थाना अंतर्गत मधङ़ा चंडी स्थान के पास रख कर फरार हो गया....."

    बिहार शरीफ (नालंदा दर्पण)। दीपनगर थाना पुलिस ने दीपक हत्याकांड का खुलासा करते हुए मुख्य अभियुक्त सागर कुमार को गिरफ्तार  किया है।

    दीपनगर थाना अंतर्गत डुमरामा जाने वाले सड़क के किनारे ग्राम मधङा चंडी स्थान के निकट एक स्टील के बक्से में बंद एक लाश बरामद हुआ था। जिसकी पहचान सोहसराय थाना क्षेत्र के  साहोखर  मोहल्ला के दीपक कुमार उर्फ पिंटू प्रसाद के रूप में हुई थी।

    मृतक के पुत्र के द्वारा इस संबंध में सागर कुमार तथा नीतीश कुमार के विरुद्ध हत्या का कांड दर्ज कराया था। जिसमें उल्लेख किया गया है कि 30,000 के बकाया के लिए इनके पिता की हत्या कर दी गई थी। इस संदर्भ में दीपनगर थाना कांड संख्या 8 /21 दिनांक 6-1-21 को दर्ज कराई गई थी।

    बताया जाता है कि कांड की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक नालंदा के दिशा निर्देश एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सदर बिहारशरीफ के नेतृत्व में एक विशेष पुलिस टीम बनाकर तीव़ गति से अनुसंधान  किया गया।

    अनुसंधान के क्रम में विधि विज्ञान प्रयोगशाला बिहार पटना के विशेषज्ञों को बुलाकर घटना स्थल एवं अन्य स्थानों का निरीक्षण करवाया गया। प्राथमिकी अभियुक्त सागर कुमार के  चांदनी कलाली  स्थित अनिल कुमार के किराए के मकान में खून का निशान तथा खून लगा कपड़ा एवं खून लगी खंती इत्यादि बरामद किया गया था।

    छापामारी दल के सदस्य पुलिस निरीक्षक व थानाध्यक्ष दीपनगर एवं जिला सूचना इकाई के पुलिस कर्मियों के द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए पूर्व में नीतीश कुमार को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया था।

    पुलिस अधीक्षक नालंदा के दिशा निर्देश में विशेष पुलिस टीम के सदस्यों के द्वारा अनुसंधान में करवाई जारी रखते हुए आज 5 फरवरी को गोलापुर परवलपुर रोड से काङं के मुख्य अभियुक्त सागर कुमार को दबोच लिया गया।

    सागर कुमार भागने की फिराक में था। गिरफ्तार अभियुक्त कुमार राज्य के कई जिलों एवं राज्य के बाहर छिपे हुए थे। इसी बीच सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम गोलापुर परवलपुर रोड होते हुए कहीं जा रहा है।

    प्राप्त सूचना के आलोक में त्वरित कार्रवाई करते हुए प्राथमिक अभियुक्त सागर कुमार को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने अपने अपराध स्वीकार स्वीकारोक्ति बयान में इस घटना को अंजाम देने की बात स्वीकार किया हैं।

    अनुसंधान के क्रम में उपलब्ध साक्ष्य के आधार  पर पुलिस के द्वारा अनुसंधान में शेष  करवाई की जा रही है। अभियुक्त के पास से मृतक का का मोबाइल सेट भी बरामद हुआ है।

    Comments