अन्य

    महिला ने थाना पुलिस कस्टडी में फांसी लगा ली, एसपी ने मामले को मानवाधिकार से जोड़ा !

    बिहार शरीफ (नालंदा दर्पण)। रहुई थाना पुलिस कस्टडी में एक महिला ने थाना परिसर के भीतर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। इस घटना से पुलिस की कार्यशैली पर एक बार फिर सवालिया निशान खड़ा हो गया है और नगरनौसा थाना पुलिस लॉकअप में बीते वर्ष हुई एक जदयू नेता की मौत की याद ताजा कर दी है।

    पुलिस कस्टडी में फांसीइधर, महिला द्वारा कथित आत्महत्या किए जाने पर नालंदा एसपी ने संज्ञान लेते हुए महिला संत्री और ओडी प्रभारी के विरुद्ध कार्रवाई शुरू कर दी है। एसपी ने इस पूरे मामले को मानवाधिकार से जोड़ते हुए पोस्टमार्टम की प्रक्रिया से लेकर सभी अनुसंधान मानवाधिकार के नियमानुसार करने की बात कही है।

    बताया जाता है कि बीते सोमवार को रुदल यादव की पत्नी अंजू देवी अपने प्रेमी के साथ फरार हो गई थी। हालांकि महिला 3 बच्चों की मां है और प्रेमी भी शादीशुदा है।

    जब रुदल यादव ने अपनी पत्नी के बारे में उसके प्रेमी को फोन किया तो उसने उल्टे रुदल यादव के खिलाफ अपने परिवार से अपने अपहरण की प्राथमिकी बिहार थाना में दर्ज करा दी।

    इधर जब रुदल यादव को पता चला उसके प्रेमी ने उसके ऊपर मुकदमा दर्ज किया है तो वह फिर रहुई थाने में जाकर इस प्रेमी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करा दी।

    बहरहाल, इस घटना के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। रुदल यादव की पत्नी अंजू देवी, जिसका प्रेमी लव कुमार एक ऑटो चालक है। लव कुमार मई फरीदा का रहने वाला है, जबकि रुदल यादव रहुई थाना इलाके के सैदल्ली गांव का बताया जाता है।

    सवाल उठता है कि थाने में सीसीटीवी कैमरा लगने के बावजूद महिला ने आत्महत्या कर ली! और इस घटना की किसी को भनक तक नहीं लगी। इस घटना के बाद तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही है।

    Comments

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here