अन्य
    अन्य

      एमपी की पहल पर डीएम ने अगले आदेश तक चंडी में अतिक्रमण हटाने पर लगाई रोक

      चंडी बाजार के समस्त दुकानदारों ने सांसद और डीएम के प्रति आभार प्रकट किया है…

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। चंडी प्रखंड में मुहाने नदी को अतिक्रमण मुक्त करने के नाम पर तोड़े जा रहे दुकान और मकानों पर फिलहाल सांसद कौशलेंद्र कुमार के पहल पर रोक लग गई है।

      What is your politics partner behind freeing such river encroachment 2

      सांसद ने डीएम को फोन कर कोरोना महामारी के दौरान दुकानदारों को तंग नहीं करने का आदेश दिया। जिसके बाद डीएम ने चंडी सीओ और बीडीओ को अगले आदेश तक अतिक्रमण हटाने पर ब्रेक लगाने का आदेश दिया है। इस आदेश के बाद लोगों ने राहत की सांस ली है।

      गौरतलब रहे कि चंडी में लोक शिकायत के तहत चंडी सीओ के नेतृत्व में चंडी बस स्टैंड के पास सभी दुकानों पर बुलडोजर चलाया गया। जिसे लेकर प्रशासन को काफी विरोध भी झेलना पड़ा।

      What is your politics partner behind freeing such river encroachment 1

      बाद में चंडी के अखबार बिक्रेता लक्ष्मी प्रसाद ने नालंदा सांसद कौशलेंद्र कुमार के पास अपने मकान को बचाने की गुहार लगाई। जिस पर सांसद ने डीएम को पत्र लिखकर वैकल्पिक व्यवस्था होने तक कार्रवाई स्थगित करने की मांग की थी।

      उसके पूर्व बुधवार को चंडी बाजार के लगभग पचास से अधिक लोग क्षेत्रीय विधायक हरिनारायण सिंह के आवास पर कार्रवाई स्थगित करने की गुहार लगाई। लेकिन विधायक ने दो टूक जबाव दिया कि वे  कुछ नहीं कर सकते हैं। वहां से नाराज़ लोग सीएम आवास गए, लेकिन वहां से भी उन्हें बैरंग लौटना पड़ा।

      जब चंडी बाजार के दुकानदारों को पता चला कि उन्हें राहत मिलती नहीं दिख रही है तो सड़क पर उतर कर बाजार के लोगों ने दुकानों को बंद करा दिया।

      Chandi The public outrage over the arbitrariness of the administration the entire market closed in protest 1

      गुरुवार सुबह सभी लोग सांसद से मिलने पहुंचे। सांसद ने पहल करते हुए डीएम को फोन कर कहा कि कोरोना को देखते हुए फ़िलहाल अगले आदेश तक कार्रवाई रोक दी जाएं। डीएम के आदेश के बाद दुकानदारों को वैकल्पिक व्यवस्था के लिए फिलहाल राहत मिल गई है।

      इससे पहले कुछ लोगों ने प्रतिपक्ष नेता तेजस्वी यादव को फोन कर मामले की जानकारी दी थी। प्रतिपक्ष नेता ने उन्हें आश्वासन दिया कि वे पदाधिकारियों से इस संबंध में बात कर फौरिक कार्रवाई की मांग करते हैं। 

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      Related News