अन्य
    अन्य

      5 दिनों में नए डीलर का चयन और खाद्यान्न का आवंटन सुनिश्चित करने का आदेश

      डीलर की मृत्यु के कारण हुई रिक्तियों को नियमानुसार अनुकंपा के आधार पर भरने हेतु अविलंब कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया...

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। जन वितरण प्रणाली के तहत जिला में जितने भी डीलर की रिक्तियां हैं, उन्हें भरने के लिए आज शुक्रवार से ही प्रक्रिया प्रारंभ करें। साथ ही पूर्व की रिक्तियों के विरुद्ध चयन किए गए नए डीलर को अविलंब नियुक्ति पत्र देते हुए 5 दिनों के अंदर खाद्यान्न का आवंटन सुनिश्चित करें।

      उक्त निर्देश आज जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने जिला आपूर्ति पदाधिकारी एवं सभी अनुमंडल  पदाधिकारियों को दिया। वह आज डीलर की रिक्तियों एवं चयन को लेकर समीक्षा बैठक कर रहे थे।

      जिला आपूर्ति पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि जिला में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों को मिलाकर वर्तमान में 1218 डीलर कार्यरत हैं। इनके अतिरिक्त पूर्व में डीलर की रिक्तियों के विरुद्ध चयन की प्रक्रिया अपनाई गई थी, जो अंतिम चरण में है।

      जिलाधिकारी ने सभी चयनित नए डीलर को निर्धारित प्रक्रिया के तहत नियुक्ति पत्र देते हुए 5 दिनों के अंदर खाद्यान्न का आवंटन सुनिश्चित करने का निर्देश जिला आपूर्ति पदाधिकारी को दिया।

      इसके अतिरिक्त वर्तमान में जितनी भी डीलर की रिक्तियां हैं, उसे भरने के लिए  अविलंब अधियाचना देने का निर्देश सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को दिया गया।

      रिक्तियों से संबंधित अधियाचना प्राप्त होते ही इसे भरने के लिए अविलम्ब समाचार पत्रों में विज्ञापन प्रकाशित कराने का निदेश जिला आपूर्ति पदाधिकारी को दिया गया।

      जिलाधिकारी ने स्पष्ट रूप से कहा कि किसी भी परिस्थिति में चयनित डीलर को खाद्यान्न आवंटन करने में तथा रिक्तियों को भरने के लिए प्रक्रिया पूरी करने में अनावश्यक विलंब नहीं होना चाहिए, अन्यथा संबंधित पदाधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

      उन्होंने जिला आपूर्ति शाखा से स्थानांतरित हो चुके लिपिक को अविलंब उनके नव पदस्थापन स्थल पर योगदान देने हेतु विरमित करने का निर्देश दिया।

      बैठक में उप विकास आयुक्त, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, सभी अनुमंडल पदाधिकारी, जिला आपूर्ति शाखा के कर्मी आदि उपस्थित थे।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      Related News