अन्य

    फुटपाथ दुकानदार अधिकार मंच की मासिक बैठक में पुलिस-प्रशासन की कार्यशैली पर उठे सवाल

    राजगीर (नालंदा दर्पण)। आज सोमवार के दिन स्थानीय अजातशत्रु किला मैदान में नालंदा फुटपाथ दुकानदार अधिकार मंच की मासिक बैठक हुई, जिसकी अध्यक्षता मंच के संरक्षक उमराव प्रसाद निर्मल ने की। 

    इस बैठक को संबोधित करते हुए बिहार प्रदेश असंगठित कामगार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अमित कुमार पासवान ने कहा कि राजगीर नगर पंचायत को नगर परिषद में अपग्रेड किया गया है। उसके बावजूद भी फुटपाथ दुकानदारों के लिए नगर विक्रय समिति की बैठक नियमित नहीं हो पाना पदाधिकारियों की लापरवाही प्रतीत होता है।

    डॉ. पासवान ने कहा कि अतिक्रमण के नाम पर सिर्फ दुकानदारों पर लाठी बसाया जाता लेकिन वेंडिंग जोन को लेकर जमीन चिन्हित कर राजगीर अंचलाधिकारी को रिपोर्ट करने के लिए कई बार नगर पंचायत के द्वारा निर्देशित किया गया है बावजूद चिन्हित नहीं किया गया है। इसमें नगर परिषद राजगीर एवं अंचलाधिकारी की बहुत बड़ी लापरवाही है।

    उन्होंने कहा कि राजगीर एक अंतरराष्ट्रीय पर्यटक स्थल है। यहां के पथ विक्रेताओं के लिए भी व्यवस्था उसी तरह से किया जाए, जिससे कि आने वाले पर्यटक उस व्यवस्था को देखकर आकर्षित हो सके एवं सभी पथ विक्रेताओं के दुकान को राजगीर हाट के रूप में विकसित किया जाए, जिससे कि यहां आकर लोग स्वच्छता एवं सुंदरता की स्थिति को देखकर व अच्छा सन्देश लेकर अपने घर की ओर जाए।

    उन्होंने संगठन के महासचिव समेत नगर के 4 युवकों पर राजगीर थानाध्यक्ष के द्वारा फर्जी मुकदमा किए जाने मामले की घोर घोर निंदा की और पूरे प्रक्ररण की उच्चस्तरीय जांच की मांग की।

    मंच के संरक्षक उमराव प्रसाद निर्मल ने कहा कि समय के अनुसार सब कुछ बदलता है। इसलिए इन पथ विक्रेताओं को वेंडिंग जोन बनाकर व्यवस्थित करने का काम नगर पंचायत करे। जिसमें नगर परिषद को संगठन की ओर से खुलकर सहयोग किया जाएगा।

    उन्होंने आगे कहा कि बीते कुछ दिन पहले सड़क दुर्घटना में चार बच्चो की मौत हो गई थी, उसकी मुआवजे की राशि को लेकर कुछ लोग सड़क पर आगजनी की थी। लेकिन कुछ गलत असामाजिक तत्व के बातों में आकर या यूं कहें दलालों की बातों में आकर राजगीर थानाध्यक्ष दीपक कुमार ने कुल 4 लगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज की है। जिसकी सच्चाई नगर के चौक चौराहे पर लगाए गए सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में देखा जा सकता है।

    उन्होंने कहा कि शासन द्वारा इस तरह  के फर्जी मुकदमा करके संगठन को तोड़ने की साजिश की जा रही है, जिसे संगठन  कतई बर्दाश्त नहीं करेगा।

    इस बैठक में सरोज देवी मदन बनरसी ने नगर परिषद के पदाधिकारियों से पथ विक्रेता कानून अधिनियम की सभी प्रावधानों को धरातल पर लागू करने की माँग की।

    इस बैठक में मंच संचालक रमेश कुमार पान, राजू साव, इंद्रजीत कुमार, सरोज देवी, राघो देवी, मनोज साव, मंजू देवी, गीता देवी , कृष्ण कुमार गुप्ता, मनोज यादव, शंकर साव, बृजनंदन प्रसाद, पप्पू साव, अनुज कुमार, चंदन कुमार , कृष्णा कुमार , संजय कुमार आदि फुटपाथी दुकानदार उपस्थित थे।

    Comments