अन्य
    अन्य

      वोट वहिष्कार करेंगे नीजि स्कूलों के शिक्षक, बोले- सरकार को महँगी पड़ेगी दोरंगी नीति

      सरकार की ऐसी दोरंगी नीति इस विधानसभा चुनाव में उसे बहुत भारी पड़ेगी....

      इसलामपुर (नालंदा दर्पण)। इसलामपुर क्षेत्र अवस्थित निजी स्कूल  के संचालकों ने आसन्न आम बिहार विधानसभा चुनाव-20 में वोट वहिष्कार का फैसला लिया है।

      खबर है कि इसलामपुर प्रखंड के निजी स्कूल के संचालकों द्वारा पटेल नगर के बुद्धा नेशनल स्कूल के प्रांगन में एक बैठक हुई। इस बैठक में कोरोना काल में निजी स्कूलों की वद्दतर स्थिति पर चर्चा की गई और सर्वसम्मति से सामूहिक वोट वहिष्कार का निर्णय लिया गया।

      इस अवसर पर संघ के अध्यक्ष धर्मवीर कुमार ने कहा कि इस कोरोना काल में सरकार ने छोटे बड़े सबका खयाल रखा, पर निजी स्कूलों के साथ सौतेलापन व्यवहार किया है। जबकि सरकार के यहाँ लंबित 25 % आरटीई का पैसा विगत कई माह से बकाया है। इस कोरोना काल मे वो पैसा भी अगर मिल जाता तो हम सभी विद्यालय के संचालक कुछ हद तक गुजारा कर लेते, लेकिन हम लोग 7 महीना की लगातार मांग पर सरकार के कानों पर जूं तक नही रेंगी। मजबूरन हम लोगों को वोट वहिष्कार का निर्णय लेना पड़ रहा है।

      इकरा स्कूल के रासीद अनवर ने कहा कि जिस तरह सरकार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों का खयाल रखती है, उसी प्रकार सरकार को निजी स्कूल के शिक्षकों पर भी ध्यान देने की आवयश्कता है, तभी शिक्षा का स्तर और बढ़ सकता है।

      इस अवसर पर सभी सदस्यों ने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्घांज्जलि अर्पित की।

      मौके पर बाल विद्या मंदिर के रंजीत शर्मा, बुद्धा नेशनल के मुकेश कुमार, शिक्षा निकेतन के सुबोध कुमार, मुन्ना कुमार, ज्ञानोदय के विजय कुमार, संत माइकल के दीप्तांशु रंजन, संतजोसेफ खुदागंज के विक्की कुमार सिंह, आदर्श निकेतन के राजीव कुमार आदि निजी स्कूलों के संचालक मौजूद थे।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      Related News