अन्य
    अन्य

      ‘छोटे मुखिया’ के समर्थन में यूं उतरे ‘शेर-ए-नालंदा’, उनके इस व्यवहार से लोग हुए दंग !

      बेन (नालंदा दर्पण)। नालंदा की राजनीति में शेर-ए-नालंदा उपनाम से शुमार पूर्व विधायक राम नरेश सिंह आज निर्दलीय प्रत्याशी एवं भाजपा नेता कौशलेन्द्र कुमार उर्फ छोटे मुखिया के समर्थन में खुलकर सामने आ गए।

      nalanda chhote mukhiya election ramnaresh singh 2आज नालंदा विधान सभा क्षेत्र के बेन प्रखंड बाजार में निर्दलीय प्रत्याशी कौशलेंद्र कुमार उर्फ छोटे मुखिया का चुनावी कार्यालय खुला, जिसका उद्घाटन पूर्व विधायक रामनरेश सिंह करने आये थे, लेकिन उपस्थित भीड़ उस समय आश्चर्यचकित हो उठा, जब एक बुजुर्ग ब्यक्ति पूर्व विधायक से मिलने पहुंचा तो उसे रुकने के लिए कहा।

      लेकिन जब थोड़ी देर बाद उन्होंने रोके गए मुरगावां निवासी 65 वर्षीय कपिल केवट को कार्यालय उद्घाटन के लिए नाम प्रेषित किया तो वहां मौजूद लोग अचानक उत्पन्न आश्चर्य भाव तालियों की गड़गड़ाहट में तब्दील हो गए।

      श्री सिंह ने कहा कि भगवान राम की नाव को भी एक केवट ने पार लगाया है। मैं छोटे मुखिया के साथ खड़ा हूं। आज इस केवट के कर कमलों से छोटे मुखिया को अपार बहुमत से चुनाव वैतरणी पार करने से कोई नहीं रोक सकता।

      पूर्व विधायक ने जफरा बैठक की चर्चा करते हुए कहा कि जो चालबाजी कर बैठक बुलाया गया था, उसे समाज की जनता समझ चुकी है। उन्होंने परोक्ष रूप से जनता को यह बातों-बातों में कह दिया कि एक-एक वोट से निर्दलीय प्रत्याशी कौशलेंद्र कुमार  उर्फ छोटे मुखिया को ईंट छाप पर बटन दबा कर विजयी बनाएं।

      वहीं निर्दलीय प्रत्याशी कौशलेन्द्र कुमार उर्फ छोटे मुखिया ने कहा कि जनता मालिक होता है। जीतने के बाद राय मशविरा लेकर ही काम करेंगे। क्षेत्र का विकास करेंगे। भ्रष्टाचार को खत्म करेंगे।

      मंच संचालन पूर्व जिला परिषद सदस्य अजय चौहान ने की। इस मौके पर नादियौना पंचायत के पूर्व मुखिया बृजनंदन सिंह, दशरथ सिंह आदि की उपस्थिति में बड़ी भीड़ उपस्थित थी।nalanda chhote mukhiya election ramnaresh singh 3

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      Related News