अन्य
    Thursday, July 18, 2024
    अन्य

      मंत्री को बतौर निर्दलीय कड़ी चुनौती देने वाले छोटे मुखिया बोले- ‘चुनाव हारा हूं, जंग नहीं’

      कई शिक्षा माफियाओं जैसे कि केएसटी कॉलेज के प्राचार्य, जे पी बी एड कॉलेज एवं महाबोधी कॉलेज के संचालक इन लोगों ने छात्रों से लूटा गया रुपया पानी की तरह हमको चुनाव कराने के लिए बहाए हैं। शिक्षा माफिया के मन में यह बात थी कि चुनाव जीत जाऊंगा। तो छात्रों से जो लूटते हैं। उस पर विराम लग जाएगा...

      बिहारशरीफ( संजय कुमार)। नालंदा विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय प्रत्याशी कौशलेंद्र कुमार उर्फ छोटे मुखिया  ने आज अपने ग्राम अजनौरा में चुनाव में हार की समीक्षा हेतु बैठक का आयोजन किया।

      nalanda poltics 2समीक्षा बैठक में उन्होंने सभी मतदाताओं को नमन वंदन  कहा कि जो मुझे मतदाता वोट दिए और जो समर्थन भी नहीं किए। उन सब के लिए मेरा दरवाजा खुला रहेगा। मैं स्थानीय विधायक से भी बढ़-चढ़कर काम करूंगा ।जो भी नियमा कुल काम होगा  उसे मैं तात्पर्यर्ता पूर्वक करूंगा। जिला के किसी भी पदाधिकारी और नेता का हिम्मत नहीं है कि उस काम को रोके।

      छोटे मुखिया ने कहा कि चुनाव हारा हूं, युद्ध नहीं। अब तक तो युद्ध का शुरुआत है। हम कैसे चुनाव हारे हैं, सर्व विदित हैँ। फिर से ठेकेदार और दलालों का गठजोड़ एवं काला धन का प्रयोग कर मुझे चुनाव हराया गया।

      मंत्री के ठेकेदार, कई मुखिया,  जिला परिषद सदस्य लोग फर्जी तरीके से जनता का जो गाढी कमाई लूटे थे। इन लोगों को भय था कि हम चुनाव जीत लूंगा तो उनकी घटिया काम करने एवं पंचायतों में लूट की छूट नहीं मिलेगी।

      उन्होंने आरोप लगाया कि कई शिक्षा माफियाओं जैसे कि केएसटी कॉलेज के प्राचार्य, जे पी बी एड कॉलेज एवं महाबोधी कॉलेज के संचालक इन लोगों ने छात्रों से लूटा गया रुपया पानी की तरह हमको चुनाव कराने के लिए बहाए हैं। शिक्षा माफिया के मन में यह बात थी कि चुनाव जीत जाऊंगा। तो छात्रों से जो लूटते हैं। उस पर विराम लग जाएगा।

      कौशलेंद्र कुमार उर्फ छोटे मुखिया ने आरोप लगाया कि मंत्री सरवन कुमार ने अपने काला धन का प्रयोग कर कांग्रेस, लोजपा और रासलोपा तीनों पार्टी उम्मीदवार को खरीदकर टिकट दिलवाया। वह सभी तीनों उम्मीदवार वोट काटकर सरवन कुमार को जिताने में मदद किया।

      इसके बावजूद भी आप के समस्याओं के निराकरण के लिए हमेशा संघर्ष करता रहूंगा। जो मेरा वादा था पैमार, पंचानवे से सिंचाई एवं बड़गांव सूर्य मंदिर का का निरंतर विकास तथा नूरसराय और दीपनगर बाजार से जल जमाव से मुक्ति हेतु हमेशा संघर्ष जारी रहेगा।

      अंचल और प्रखंड में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन जारी रहेगा। मेरे परिवार एवं किसी भी कार्यकर्ताओं को किसी भी तरह का नुकसान पहुंचाने की कोशिश किया गया तो। मैं इसका सीधा जिम्मेवार यहां के वर्तमान विधायक को मानूंगा। मैं वादा करता हूं जीना भी आपके साथ मरना भी आपके साथ। जब तक शरीर में एक बूंद भी खून का कतरा बचेगा तब तक सेवा करता रहूंगा।

      उन्होंने अंतिम शब्दों के साथ कहा कि जुल्मी कब तक जुल्म करेगा सत्ता के गलियारों से। चप्पा चप्पा गूंजेगा परिवर्तन के नारों से।

      इस मौके पर भागवत सत्येंद्र कुमार, पप्पू खान, तारिक अनवर, विशेश्वर प्रसाद, जीतू यादव ,डॉक्टर अंबिका प्रसाद ,अजय कुमार सिंह ,अजय चौहान, बृजकिशोर सिंह, नगेंद्र कुमार, सुधीर कुमार, नितीश कुमार, रामचंद्र, रविंद्र छोटे चौहान ,अमन पटेल ,अनुज यादव ,मनीष, मणिकांत पासवान एवं इस कार्यक्रम में सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित हुए।

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!