इस गांव में मिले 27 कोरोना मरीज की खुशी में यूं मुर्गा-भात भोज का वीडियो वायरल !

0
1026

एक तरफ देश और राज्य में जहाँ तेजी से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। वहाँ एक गांव में संक्रमित मरीजों के ठीक हो जाने के उपलक्ष्य में मुर्गा-भात भोज का आयोजन किया गया…

नालंदा दर्पण डेस्क।  देश की आजादी की पूर्व संध्या पर चंडी प्रखंड के एक गांव में कोरोना संक्रमण मुक्त होने की खुशी में लगभग सौ लोगों ने आयोजित इस भोज में शामिल हुए। बजाप्ता इसका वीडियो बनाया और विभिन्न सोशल ग्रुपों में वायरल भी कर दिया।chandi nalanda covid 19 village parti 1

हालांकि नालंदा दर्पण इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता, यह प्रशासन के लिये एक जांच का बिषय है कि वायरल वीडियो की सच्चाई क्या है।

यह वही देश है, जहां कोरोना संक्रमण के शुरुआती दौर से ही मानवीय संवेदना और एकजुटता प्रदर्शित करने के आयोजन के दौरान चारों दिशाओं से आतिशबाजी की शोर गूंजती है।

याद करिये 22 मार्च को जनता कर्फ्यू को जहां ढोल नगाड़े, थाली और ताली के साथ शुरू हुए कोरोना उत्सव की अपार सफलता का जश्न मनाया गया था।

हम कह सकते हैं कि इस देश में कोरोना ने साबित कर दिया है एक खास वर्ग का जमात जाहिलों और अमानुषों से भरी हुई है, जो कोरोना जैसी महामारी में भी बेखौफ़ बड़े शौक से जश्न मनाने में संकोच नहीं करती है।

chandi nalanda covid 19 village parti 2नालंदा दर्पण को हाथ लगे वीडियो कुछ यही बयां कर रहा है। चंडी प्रखंड के एक गांव में कोरोना को खत्म मान दावत का आयोजन किया गया है। जिसमें देखा जा सकता है लगभग सौ की संख्या में लोग इस दावत में शामिल होते हैं।

यहां लोगों की प्लेट में मुर्गे के साथ रोटी-चावल खाते देखा जा सकता है। लोगों में किसी प्रकार का कोई खौफ नहीं है। शारीरक दूरी तो दूर मास्क और गमछे का उपयोग भी नहीं किया जा रहा है।

बताते चलें कि इस गांव में कोरोना संक्रमण काफी तेजी से बढ़ रहा था। इस गांव.को सील कर कंटेंनमेंट जोन में रखा गया था। यहां से लगभग 27 कोरोना के मरीज थे। इस गांव में राजद के एक भावी प्रत्याशी के द्वारा पूरे गांव को सेनिटाइजर भी कराया गया था।

सूत्रों के अनुसार गावं में सभी बीमार लोगों के पूरी तरह ठीक होने पर इस खुशी में मुर्गा- भात की दावत का आयोजन किया गया। कोरोना मरीजों के ठीक होने पर गांव में खुशी की लहर देखी जा रही है।

यह वहीं बिहार है, जहाँ कोरोना काल में शिक्षा मंत्री के गांव सुगांव में तथाकथित मछली पार्टी के आयोजन के नाम पर कई समाज के जिम्मेदार लोग आज भी मुकदमें झेल रहे हैं।

ऐसे में कोरोना काल में दावत इस दावत के आयोजन का वीडियो वायरल होने के बाद भी पुलिस प्रशासन इसकी जांच पड़ताल क्यों नहीं कर रही है, यह एक सवाल लोगों के सामने है।