अन्य
    Sunday, July 21, 2024
    अन्य

      कुलपति प्रोफ़ेसर के तानाशाही रवैये के खिलाफ आमरण अनशन पर बैठे नव नालंदा महाविहार के दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी

      नालंदा दर्पण (मुन्ना पासवान)। मानित विश्वविद्यालय नव नालंदा महाविहार के कुलपति प्रोफ़ेसर बैद्यनाथ के तानाशाही रवैया के खिलाफ बीते 18 दिन से आउटसोर्सिंग को रद्द करने, पूर्व की तरह सभी दैनिक वेतन भोगी कर्मियों को काम लेने, पहचान पत्र एवं पीएफ ,बीमा आदि की सुविधा प्रदान करने आदि विभिन्न मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरना पर कर्मी कमलेश प्रसाद बैठ गए हैं।

      Daily wage workers of Nava Nalanda Mahavihar sitting on fast unto death for their demandsमौके पर धरना का नेतृत्व कर रहे असंगठित कामगार एवं कर्मचारी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डॉ अमित कुमार पासवान ने धरना को संबोधित करते हुए कहा कि सभी कर्मी एकजुट रहे अनशन पर बैठे कर्मियों को चिकित्सा की देखरेख में रखें आंदोलन को और तेज करें। न्याय मिलने तक धरना जारी रखें, अहिंसा में बहुत बड़ी ताकत होती है अहिंसा  के बल पर हम अपना जायज मांगों को लेकर रहेंगे।

      डॉ पासवान ने कहा कि धरना के 19 दिन बीत जाने के बाद ही भ्रष्ट कुलपति प्रोफेसर वैद्यनाथ लाभ के द्वारा दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों की मांगों को पूरा नहीं करना एवं एक साजिश के तहत महाविहार में विभिन्न कार्यक्रमों को स्थगित कर नोटिस निकालना  , महाविहार की संस्कृति से खिलवाड़ करना भ्रष्टाचारी व अहंकारी का निशानी है जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

      उन्होंने बताया कि मांगे पूरी होने तक भीम आर्मी, जन कल्याण मंच भाकपा, माकपा, फुटपाथ संघर्ष मोर्चा का समर्थन जारी रहेगा।

      धरना को डॉक्टर भीमराव अंबेडकर संघर्ष विचार मंच के अध्यक्ष अनिल पासवान,  अति पिछड़ा, दलित  संघर्ष मोर्चा के संस्थापक बलराम दास, मिस्त्री संघ के अध्यक्ष मुन्ना कुमार,  फुटपाथ संघर्ष मोर्चा के जिला अध्यक्ष रामदेव चौधरी, डॉ अशोक कुमार उर्फ सुरेश भंते, जन कल्याण मंच के अध्यक्ष सत्येंद्र पासवान, प्रतिभा कुमारी ,मुरारी कुमार, उपेंद्र कुमार, रवि कुमार, सुनील कुमार सहित दर्जनों लोगों ने संबोधित किया।

       

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!