December,2,2021
21 C
Patna
Thursday, December 2, 2021
अन्य

    बड़ी लापरवाहीः सदर अस्पताल के डॉक्टर ने मरीज को चढ़ा दिया एचआइवी पॉजेटिव ब्लड !

    डॉक्टर राम कुमार करीब 20 सालों से सदर  अस्पताल में अपनी पत्नी डाक्टर कुमकुम के नाम पर अक्सर ही आँपरेशन थिएटर में  महिलाओं का सिजेरियन सेक्सन ऑपरेशन करते नजर आते है। जबकि वे मूर्छक डॉक्टर भी नहीं हैं। वे ये पैथोलॉजी चिकित्सक हैं....

    बिहार शरीफ (नालंदा दर्पण)।  इन दिनों बिहार शरीफ का सदर अस्पताल रोज नए-नए करनामे सामने आ रहे है। आज सदर अस्पताल के ब्लड बैंक के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. राम कुमार की बडी लापरवाही सामने आई है।

    सदर अस्पताल में प्रसव कराने आई महिला को एक यूनिट ब्लड की जरूरत द्वारा बताया गया। जिसपर महिला के पति द्वारा ब्लड बैंक मे ब्लड डोनेट किया गया। लेकिन वहां मौजूद डाक्टर ने ब्लड की बिना जाँच किए मरीज महिला की नसों में चढ़ा दिया गया। बाद में महिला के पति का ब्लड एचआईवी पॉजिटिव निकला।

    इसके बाद डाक्टर ने उसका ब्लड लेकर उसकी जगह पर उसकी पत्नी के ग्रुप का ब्लड दे दिया और उस एचआईवी पॉजिटिव पुरुष का ब्लड किसी अन्य प्रसव करवाने आई महिला को चढ़ा दिया गया।

    अब इससे बडी लापरवाही और क्या हो सकती है कि बिना ब्लड की जाँच किये किसी का ब्लड कैसे लिया गया और फिर उस ब्लड को किसी और में ग्रुप मिला कर कैसे चढ़ा दिया गया।

    अस्पताल सूत्रों से पता चला है कि डॉक्टर राम कुमार करीब 20 सालों से सदर  अस्पताल में अपनी पत्नी डाक्टर कुमकुम के नाम पर अक्सर ही आँपरेशन थिएटर में  महिलाओं का सिजेरियन सेक्सन ऑपरेशन करते नजर आते है। जबकि वे मूर्छक डॉक्टर भी नहीं हैं। वे ये पैथोलॉजी चिकित्सक हैं।  फिर भी सिजेरियन सेक्सन में अपनी पत्नी डाक्टर कुमकुम कुमारी के ऑपरेशन रुम में मूर्च्छा डाक्टर बन जमे रहते हैं और सरकार द्वारा देय प्रोत्साहन राशि का उठाव भी कर डालते हैं।

    अस्पताल सूत्रों का यह भी कहना है कि लगभग 20 वर्षो से अधिक समय से पति-पत्नी एक ही अस्पताल मे कार्यरत है। इनके कार्यकाल में उनपर कई बार गंभीर अरोप अस्पताल प्रबंधक एंव मरीज के परिजनों द्वारा लगाया गया है, लेकिन आज तक उनपर अस्पताल प्रशासन-जिला प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाही नहीं हुई है।

    इसके पहले भी भी रेड क्रोस के सदस्यगण के द्वारा उनके खिलाफ उच्च पदाधिकारी को लिखित सूचना दी गई, लेकिन स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों द्वारा कोई कार्यवाही नही होने से इनका मनोबल काफी बढ गया है और मरीजों के जीवन से खिलवाड़ जारी है।

    माधोपुर सुदामा चौक पर माँ काली-माँ अम्बे दुकान में लाखों की संदेहास्पद चोरी

    ले दारुः हरनौत में दारोगा-चौकीदार पुत्र गिरफ्तार, वहीं थरथरी में कारोबारी का बेड़ा पार !

    चर्चित अपहरण-हत्या के 2 दोषी को उम्रकैद एवं 35 हजार रुपए का अर्थदंड

    पति ने पत्नी के सिर में मारी गोली, हालत गंभीर, पीएमसीएच रेफर

    पिस्तौल की नोक पर नाबालिग युवक-युवती का पकड़ुआ विवाह, जबरन डलवाया सिन्दूर

    2 COMMENTS

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    Related News