अन्य
    Thursday, July 18, 2024
    अन्य

      उप विकास आयुक्त ने की जिला कृषि टास्क फोर्स की बैठक

      “उर्वरक की उपलब्धता से संबंधित किसी भी तरह की परेशानी या शिकायत जिला स्तरीय कृषि नियंत्रण कक्ष में दूरभाष संख्या 06112-231143 पर दर्ज कराई जा सकती है…

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। नालंदा जिलाधिकारी के निदेशानुसार आज उप विकास आयुक्त वैभव श्रीवास्तव ने हरदेव भवन सभागार में जिला स्तरीय कृषि टास्क फोर्स की बैठक की।

      सभी प्राधिकृत पदाधिकारियों को उर्वरक दुकानों की नियमित जाँच सुनिश्चित करने को कहा गया। जाँच के क्रम में पाई गई अनियमितता के आलोक में सक्षम स्तर से करवाई सुनिश्चित करने को कहा गया।

      अभी तक विभिन्न पदाधिकारियों द्वारा की गई 413 जाँच के आलोक में 9 दुकानों में अनियमितता पाई गई, जिसके आलोक में 7 उर्वरक दुकानों से स्पष्टीकरण पूछा गया। 4 दुकानों की अनुज्ञप्ति निलंबित की गई तथा एक की अनुज्ञप्ति रद्द की गई है।

      उर्वरक की उपलब्धता से संबंधित किसी भी तरह की परेशानी या शिकायत जिला स्तरीय कृषि नियंत्रण कक्ष में दूरभाष संख्या 06112-231143 पर दर्ज कराई जा सकती है। नियंत्रण कक्ष के दूरभाष संख्या को सभी पंचायतों में सार्वजनिक स्थलों पर दीवाल लेखन द्वारा प्रदर्शित करने का निदेश सभी प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी को दिया गया।

      प्राप्त शिकायतों की जाँच के क्रम में शिकायतकर्त्ता से भी बयान लेने को कहा गया। जिला कृषि पदाधिकारी को इन शिकायतों की जाँच का अनुश्रवण एवं समीक्षा सुनिश्चित करने को कहा गया।

      धान रोपनी के संबंध में बताया गया कि जिला में अद्यतन 135339 हेक्टेयर में रोपनी हुई है जो निर्धारित लक्ष्य का 97.31 प्रतिशत है। मक्का बुआई 3441 हेक्टेयर में किया गया है, जो लक्ष्य का शत प्रतिशत है। आकस्मिक फसल योजना के तहत 800 क्विंटल मक्के कब बीज का वितरण जिला के 10276 किसानों के बीच किया गया है।

      डीज़ल सब्सिडी से संबंधित 679 प्राप्त आवेदनों में से 638 आवेदन अस्वीकृत किये गए हैं। स्वीकृति प्राप्त 41 आवेदनों में से 24 लाभुकों को अनुदान की राशि का भुगतान किया जा चुका है। उप विकास आयुक्त ने शेष आवेदनों का भी त्वरित निष्पादन सुनिश्चित करने का निदेश दिया।

      बैठक में जिला कृषि पदाधिकारी, जिला पशुपालन पदाधिकारी, जिला मत्स्य पदाधिकारी, जिला गव्य विकास पदाधिकारी, सभी अनुमंडल कृषि पदाधिकारी, प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी आदि शामिल थे।

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!