अन्य
    Thursday, July 18, 2024
    अन्य

      पावापुरी महोत्सव एवं प्रकाश पर्व के आयोजन को लेकर जिलाधिकारी ने आरआईसीसी सभागार में की तैयारियों की समीक्षा

      बिहार शरीफ (नालंदा दर्पण)। पावापुरी महोत्सव एवं प्रकाश पर्व के आयोजन से संबंधित तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने आज आरआईसीसी सभागार में संबंधित पदाधिकारियों एवं प्रतिनिधियों के साथ बैठक किया।

      पावापुरी महोत्सव का आयोजन 23 -24 अक्टूबर को किया जाना है। इसके आयोजन को लेकर पूर्व में ही जिला स्तरीय अनुश्रवण समिति एवं अनुमंडल स्तरीय अनुश्रवण समिति का गठन किया गया है।

      आयोजन से संबंधित विभिन्न कार्यों के ससमय निष्पादन हेतु 21 उप समितियों का गठन किया गया है। सभी उप समितियों के नोडल पदाधिकारियों से आयोजन से संबंधित अद्यतन कार्य स्थिति के बारे में जानकारी ली गई।

      महोत्सव के आयोजन को लेकर निविदा के माध्यम से इवेंट मैनेजमेंट एजेंसी का चयन किया जा चुका है। सांस्कृतिक कार्यक्रम हेतु मुख्य कलाकारों का चयन एक-दो दिन में निर्धारित किया जाएगा। शाकाहार एवं शराबबंदी की थीम पर भगवान महावीर की जीवनी पर आधारित जीवंत प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा।

      विद्यालय के छात्र/ छात्राओं के बीच रंगोली, पेंटिंग, चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन  किया जाएगा। जिसकी जिम्मेवारी जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं जिला प्रोग्राम पदाधिकारी आईसीडीएस को दी गई  है।

      महोत्सव के अवसर पर 14 विभिन्न विभागों द्वारा स्टॉल भी लगाया जाएगा। जिसके लिए सभी संबंधित विभागों को तैयारी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया।

      आमंत्रण पत्र की छपाई एवं वितरण, प्रचार प्रसार, पेयजल, शौचालय,  चिकित्सा शिविर आदि की व्यवस्था हेतु संबंधित विभागीय पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया।

      राष्ट्रीय उच्च पथ से भगवान महावीर आयुर्विज्ञान संस्थान तक की सड़क की मरम्मती का कार्य पथ निर्माण विभाग द्वारा किया जा रहा है,जिसे समय से पूरा करने का निर्देश दिया गया।

      बैठक में उप विकास आयुक्त, नगर आयुक्त, अपर समाहर्ता, पावापुरी स्थित दिगंबर जैन मंदिर/श्वेतांबर जैन मंदिर प्रबंधन समिति के प्रतिनिधि, अनुमंडल पदाधिकारी राजगीर, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजगीर सहित आयोजन अनुश्रवण समिति के सदस्य एवं विभिन्न उप समितियों के नोडल पदाधिकारी उपस्थित थे।

      प्रकाश पर्व के अवसर पर मुख्य रूप से 3 नवंबर से 5 नवंबर के बीच श्रद्धालुओं का राजगीर में आगमन होगा। राज्य एवं देश के श्रद्धालुओं के साथ साथ लगभग 500 प्रवासी भारतीय श्रद्धालुओं के भी आने की संभावना है। इनके आवासन के लिए आयोजकों द्वारा राजगीर के विभिन्न होटलों में व्यवस्था की गई है।

      नगर परिषद के सम्राट अशोक भवन में भी श्रद्धालुओं के आवासन हेतु व्यवस्था की जा रही है।

      आयोजन अवधि में गुरुद्वारा शीतल कुंड एवं नगर परिषद के सम्राट अशोक भवन में नियंत्रण कक्ष/हेल्प डेस्क की व्यवस्था की जाएगी।श्रद्धालुओं के आवासन हेतु चिन्हित होटलों के लिए भी एक समेकित नियंत्रण कक्ष/हेल्प डेस्क की व्यवस्था की जाएगी।

      पार्किंग के लिए भी स्थल निर्धारित किया गया है। बड़े वाहनों की पार्किंग राजगीर मेला ग्राउंड में तथा छोटे वाहनों की पार्किंग गुरुद्वारा के समीप कराई जाएगी। दोनों पार्किंग स्थलों पर आवश्यकतानुसार बैरिकेडिंग एवं स्पष्ट साइनेज आदि लगाने का निर्देश दिया गया।

      कार्यपालक पदाधिकारी नगर परिषद राजगीर को पेयजल, शौचालय एवं रोशनी की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित रखने का निर्देश दिया गया। शहर में सफाई की विशेष रूप से व्यवस्था सुनिश्चित रखने निदेश नगर परिषद को दिया गया।

      आयोजन अवधि में राजगीर में सुगम यातायात हेतु कारगर यातायात प्लान लागू करने का निर्देश अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस उपाधीक्षक यातायात को दिया गया।

      4 नवंबर को निकाली जाने वाली नगर कीर्तन यात्रा के समय एवं मार्ग में विशेष यातायात व्यवस्था सुनिश्चित रखने को कहा गया।

      प्रकाश पर्व के आयोजन को लेकर विभिन्न कोषांग का गठन पूर्व में ही किया गया है। सभी कोषांगों के नोडल पदाधिकारियों को निर्धारित समय सीमा के अंदर आवश्यक तैयारी एवं व्यवस्था सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया।

      गुरुद्वारा मार्ग में तथा 4 नवंबर को निकाले जाने वाले नगर कीर्तन के लिए निर्धारित मार्ग में जलापूर्ति हेतु पाइप लाइन बिछाने के क्रम में क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मती सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए 22 अक्टूबर तक सुनिश्चित करने का निर्देश सिंचाई विभाग एवं पीएचईडी के कार्यपालक अभियंता को दिया गया।

      गुरुद्वारा परिसर में नए जलापूर्ति पाइप लाइन का कनेक्शन 20 अक्टूबर तक सुनिश्चित करने का निर्देश पीएचइडी को दिया गया।

      एनएच 82 के डिवाइडर एवं पेवमेंट का  रंग रोगन कराने का निर्देश संबंधित अभियंता को दिया गया।

      बैठक के उपरांत जिलाधिकारी ने निर्माणाधीन गुरुद्वारा एवं गुरु नानक निवास, पार्किंग के लिए चयनित मेला ग्राउंड तथा सम्राट अशोक भवन का स्थल निरीक्षण भी किया तथा तैयारियों को लेकर संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया।

      बैठक में नगर आयुक्त, उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, अनुमंडल पदाधिकारी राजगीर, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजगीर, कार्यपालक पदाधिकारी नगर परिषद राजगीर सहित विभिन्न कोषांगों के नोडल पदाधिकारी मौजूद थे।

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!