अन्य
    Sunday, July 21, 2024
    अन्य

      Government schools: विद्यालय अनुश्रवण व्यवस्था को प्रभावी और सशक्त बनाने की आवश्यकता

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। नालंदा जिला पदाधिकारी शशांक शुभंकर ने शिक्षा विभाग (Government schools) से संबंधित पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में जिला पदाधिकारी ने निर्देश देते हुए कहा कि विभागीय निर्देशानुसार सभी पदाधिकारियों, शिक्षकों एवं कर्मियों की बायोमेट्रिक उपस्थिति हर हाल में सुनिश्चित की जाए नामित निरीक्षी पदाधिकारी तथा कर्मी द्वारा विद्यालयों का निरीक्षण रिपोर्ट हर हाल में अपलोड भी किया जाना चाहिए।

      उन्होंने कहा कि विद्यालयों के नियमित अनुश्रवण का मूल उद्देश्य यह है कि प्रत्येक सरकारी विद्यालय का संचालन निर्धारित मानक के अनुरूप हो रहा है अथवा नहीं। यदि विद्यालय संचालन में किसी प्रकार की कमी अथवा कठिनाई है तो अनुश्रवण के माध्यम से उसे ठीक कराया जा सके। इससे विद्यालयों में अध्यनरत बच्चों के लिए विद्यालय में उचित शैक्षणिक वातावरण का निर्माण कर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराया जा सकेगा।

      उन्होंने कहा कि इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए विद्यालय अनुश्रवण व्यवस्था को और प्रभावी एवं सशक्त बनाने की आवश्यकता है। इसके तहत शिक्षकों एवं बच्चों की उपस्थित, आधारभूत संरचना के साथ ही, एकेडमिक एक्टिविटी तथा वर्ग कक्षा संचालन इत्यादि का भी सघन अनुश्रवण किया जा सके।

      जिला पदाधिकारी ने कहा कि इस अनुश्रवण व्यवस्था से जहां एक तरफ विद्यालय में कराए जा रहे विकास कार्यों एवं शैक्षिक परिवेश में सुधार परिलक्षित होंगे, वहीं दूसरी तरफ सरकारी विद्यालयों के प्रति अभिभावक एवं बच्चों में आकर्षण भी बढ़ेगा। गुणवत्तापूर्ण बेंच डेस्क की उपलब्धता, प्रयोगशाला की उपलब्धता, पुस्तकालय का बच्चों द्वारा नियमित उपयोग, आईसीटी लैब की उपलब्धता, विद्यालय परिसर में चहारदीवारी की उपलब्धता, बिजली कनेक्शन एवं मीटर की उपलब्धता, वर्ग कक्ष में पंखा, ट्यूबलाइट एवं बल्ब की उपलब्धता, खेल मैदान की उपलब्धता, खेल सामग्री की उपलब्धता एवं बच्चों द्वारा उसके उपयोग की स्थिति, सेनेटरी पैड वेंडिंग मशीन की उपलब्धता, विद्यालय परिसर की स्वच्छता एवं सौंदर्यीकरण की स्थिति, कक्षा वार विद्यार्थियों का नामांकन एवं वास्तविक स्थिति, प्रधानाध्यापक एवं शिक्षकों की उपस्थिति, समय सारणी के अनुसार वर्ग कक्ष संचालित हो रहा है या नहीं, विद्यालय में अभिभावक शिक्षक संगोष्ठी का आयोजन की स्थिति शारीरिक शिक्षक, संगीत शिक्षक, नृत्य शिक्षक, ललित कला शिक्षक द्वारा उनसे संबंधित गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है या नहीं आदि के संबंध में जांच की जायेगी।

      सेवांत लाभ तथा वेतन भुगतान ना रखें लंबितः जिला पदाधिकारी ने शिक्षा विभाग के स्थापना शाखा के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि किसी भी हालत में सेवांत लाभ तथा वेतन आदि लंबित न रखें। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि प्राथमिकता के आधार पर शिक्षा से जुड़े सभी कार्य ससमय पूर्ण करना सुनिश्चित करें। लापरवाही करने वालों पर कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

      इस बैठक में उप विकास आयुक्त वैभव श्रीवास्तव, जिला शिक्षा पदाधिकारी राज कुमार सहित सभी जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, सभी अभियंता आदि उपस्थित थे।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!
      विश्व को मित्रता का संदेश देता वैशाली का यह विश्व शांति स्तूप राजगीर वेणुवन की झुरमुट में मुस्कुराते भगवान बुद्ध राजगीर बिंबिसार जेल, जहां से रखी गई मगध पाटलिपुत्र की नींव राजगीर गृद्धकूट पर्वत : बौद्ध धर्म के महान ध्यान केंद्रों में एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल