अन्य
    Friday, February 23, 2024
    अन्य

      बिहार शरीफः बड़ी दरगाह के पास मखदूम-हज उलाद्दीन तालाब का जीर्णोद्धार-सौंदर्यीकरण युद्ध स्तर पर जारी

      *मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना से किया जा रहा है इन योजनाओं का क्रियान्वयन *जिलाधिकारी ने स्थल निरीक्षण कर योजनाओं के कार्य प्रगति का किया निरीक्षण *योजनाओं को निर्धारित मानक के अनुरूप गुणवत्ता के साथ समय पर पूरा करने का दिया निदेश

      नालंदा दर्पण डेस्क। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पहल से बिहार शरीफ स्थित बड़ी दरगाह परिसर एवं इसके आसपास तथा खानकाह में विभिन्न योजनाओं का क्रियान्वयन कराया जा रहा है। इन योजनाओं का क्रियान्वयन जिला योजना कार्यालय के माध्यम से मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना के तहत कराया जा रहा है।

      Renovation beautification of Makhdoom Haj Uluddin pond near Badi Dargah continues on war footingबड़ी दरगाह के पास स्थित मखदूम तालाब का जीर्णोद्धार लगभग 51 लाख रुपए की लागत से कराया जा रहा है। यह कार्य लगभग पूरा हो चुका है। इसके साथ ही लगभग 3 करोड रुपए की लागत से इस तालाब में रिटेनिंग वाल, बाउंड्री वाल, नाला निर्माण तथा सौंदर्यीकरण का कार्य भी कराया जा रहा है।

      पास में ही हज उलाद्दीन तालाब का जीर्णोद्धार लगभग एक करोड़ 14 लाख रुपए की लागत से कराया जा रहा है। साथ ही लगभग आठ करोड़ 25 लाख रुपए की लागत से इस तालाब में रिटेनिंग वॉल, बाउंड्री वॉल, नाला निर्माण एवं सौंदर्यीकरण का कार्य कराया जा रहा है। दोनों तालाब के जीर्णोद्धार एवं सौंदर्यीकरण का कार्य लघु सिंचाई प्रमंडल नालंदा द्वारा कराया जा रहा है।

      बड़ी दरगाह परिसर तथा ख़ानक़ाह में शौचालय-स्नानागार  कॉम्प्लेक्स एवं वजूखाना का निर्माण लगभग 73 लाख रुपए की लागत से स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन, कार्य प्रमंडल बिहार शरीफ द्वारा कराया जा रहा है।

      जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने आज बड़ी दरगाह के पास मखदूम तालाब के जीर्णोद्धार कार्य तथा परिसर में निर्माणाधीन शौचालय-स्नानागार कॉम्प्लेक्स तथा वजूखाना का स्थल निरीक्षण किया।

      तालाब के जीर्णोद्धार एवं सौंदर्यीकरण कार्य में गुणवत्ता का विशेष रूप से ध्यान रखने का निर्देश दिया गया। सौंदर्यीकरण में प्रयोग किए जाने वाले कोटा स्टोन एवं अन्य सामग्रियों की विशिष्टियों को लेकर उन्होंने कार्यपालक अभियंता लघु सिंचाई प्रमंडल बिहार शरीफ को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिया। इस कार्य को अप्रैल माह में पूरा करने का निर्देश दिया गया।

      बड़ी दरगाह परिसर में निर्माणाधीन शौचालय कॉम्प्लेक्स के निरीक्षण के क्रम में उन्होंने आवश्यकता को देखते हुए कुछ शौचालयों में कोमोड तथा अन्य में देशी पैन लगाने का निर्देश दिया।

      शौचालय कॉम्प्लेक्स में उपयोग किए जाने वाले टाइल्स का चयन गुणवत्ता एवं स्थल की विशिष्टता के अनुरूप सुनिश्चित करने का निर्देश स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन के अभियंता को दिया गया। इस कार्य को भी अप्रैल माह तक अवश्य रूप से पूरा करने का निर्देश दिया गया।

      इस अवसर पर मखदूम ए जहां के गद्दीनशीं सैय्यद शाह सैफ़ुद्दीन अहमद फ़िरदौसी (पीर साहब), जिला योजना पदाधिकारी अर्जुन सिंह, कार्यपालक अभियंता लघु सिंचाई प्रमंडल बिहार शरीफ अभिषेक कुमार, स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन के सहायक अभियंता, संवेदक प्रतिनिधि आदि मौजूद थे।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!