अन्य
    Wednesday, July 17, 2024
    अन्य

      Shubh Muhurat: जानें इस माह कब-कब होंगे विवाह, मुंडन और संस्कार

      नालंदा दर्पण डेस्क। इस बार जुलाई में विवाह के केवल सात ही शुभ मुहूर्त (Shubh Muhurat) है। आषाढ़ शुक्ल पक्ष चतुर्थी तिथि से नवमी तिथि तक वैवाहिक मुहूर्त है। यानी नौ से 15 जुलाई तक ही शहनाई गूंजेगी। 17 जुलाई को देवशयनी एकादशी के बाद चातुर्मास है। शादी-विवाह पर विराम लग जायेगा।

      इसके बाद नवम्बर में एक बार फिर शहनाई गूंजेगी। चार महीने तक सभी मांगलिक कार्य बंद रहेंगे। चातुर्मास के दौरान सनातन धर्मावलंबियों में शादी-विवाह, जनेऊ, मुंडन, गृह प्रवेश आदि कार्य बंद हो जाते हैं।

      जानकारों के मुताबिक बृहस्पति का उदय ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष द्वादशी तीन जून को हो गया है। अभी शुक्र अस्त बरकरार है। शुक्र ग्रह का उदय आषाढ़ कृष्ण सप्तमी 28 जून को शाम पांच बजकर छह मिनट पर होगा। शुक्र का बालत्व एक जुलाई को समाप्त होगा, उसके बाद 9 जुलाई से शुभ लग्न मुहूर्त प्रारम्भ होंगे।

      आषाढ़ शुक्ल पक्ष देवशयनी एकादशी यानी 17 जुलाई बुधवार को अनुराधा नक्षत्र व शुभ योग के साथ सर्वार्थ अमृत सिद्धि योग में श्रीहरि विष्णु शयन के लिए क्षीर सागर में चले जाएंगे। जुलाई माह में केवल है सात शुभ मुहूर्त इस दौरान साधु-संत, सन्यासी चार महीना अपना आसन जमाकर भजन-कीर्तन, भगवत गुणगान कथा प्रवचन आदि धार्मिक कार्य करेंगे। फिर 12 नवंबर मंगलवार को कार्तिक शुक्ल देवोत्थान एकादशी को श्रीहरि निद्रा से जागृत होंगे।

      फिर 4 माह पश्चात कार्तिक शुक्ल एकादशी पर 12 नवम्बर को चातुर्मास समाप्त होगा और मांगलिक कार्य एक बार फिर 16 नवंबर से शुरू होंगे। नवंबर माह के लिए 16, 17, 18, 22, 23, 24, 25, 26, 28 एवं 29 नवंबर तथा दिसंबर माह के लिए 2, 3, 4, 5, 9, 10, 11, 14 एवं 15 दिसंबर की तिथि को शुभ मुहूत है।

      इस चातुर्मास के दौरान भगवत पूजन, शिव पुराण का पाठ, महामृत्युंजय का जाप, एकांतवास में स्वाध्याय, दान-पुण्य, गौ एवं ब्राह्मण की तीर्थ यात्रा, अनुष्ठान बुजुर्गों जुगका सेवा करनी चाहिए। वहाँ इस दौरान शादी-विवाह, उपनयन, मुंडन, गृहप्रवेश बहुमूल्य वस्तुओं की खरीदारी, मांगलिक कार्य आदि नहीं करना चाहिए।

      नवम्बर-दिसम्बर में 19 वैवाहिक लग्र मुहूर्त के बाद 16 दिसम्बर को सूर्य देव वृश्चिक राशि से सुबह सात बजकर 39 मिनट पर धनु राशि में जायेंगे और एक बार खरमास लग जाएगा। इसके बाद अगले साल 2025 में मकर संक्रांति के बाद शादी-विवाह का लग्न शुरू होगा।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!
      तस्वीरों से देखिए राजगीर पांडु पोखर एक ऐतिहासिक पर्यटन धरोहर MS Dhoni and wife Sakshi celebrating their 15th wedding anniversary जानें भगवान बुद्ध के अनमोल विचार जानें भागवान महावीर के अनमोल विचार