अन्य
    Saturday, July 20, 2024
    अन्य

      परवलपुर प्रखंड में नालंदा जिला प्रशासन का पहला जनसंवाद कार्यक्रम

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। नालंदा जिला प्रशासन द्वारा आज परवलपुर प्रखंड में पहला जनसंवाद कार्यक्रम बबुरबन्ना स्थित पंचायत सरकार भवन चौसंडा के मैदान में आयोजित किया गया जिसमें चौसंडा एवं मई पंचायत तथा नगर पंचायत परवलपुर के लोग शामिल हुए।

      First public dialogue program of Nalanda district administration in Parwalpur block 2कार्यक्रम का शुभारंभ स्थानीय प्रमुख, अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधिगण, उप विकास आयुक्त आदि द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर उप विकास आयुक्त ने अपने संबोधन में इस कार्यक्रम के उद्देश्य के बारे में जानकारी दी।

      उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में लोगों को विस्तृत जानकारी देने तथा लोगों से योजनाओं के संबंध में फ़ीडबैक लेने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने प्रखंड में किये गए एवं कराये जाने वाले महत्वपूर्ण कार्यों के बारे में भी संक्षिप्त जानकारी दिया।

      पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय श्रीमती ममता प्रसाद ने अपने संबोधन में आकस्मिक मदद के लिए डायल 112  के बारे में लोगों को जागरूक करते हुए इसका लाभ लेने के लिए प्रेरित किया।

      उन्होंने बताया कि साइबर क्राइम की रोकथाम हेतु जिला में एक डेडीकेटेड साइबर थाना क्रियान्वित है। साइबर क्राइम से संबंधित किसी भी तरह की शिकायत या जानकारी इस थाना में दर्ज कराने के लिए प्रेरित किया।

      उन्होंने साइबर अपराध से संबंधित त्वरित जानकारी दूरभाष संख्या 1930 पर देने को कहा गया। थाना में महिलाओं के लिए विशेष महिला हेल्प डेस्क की व्यवस्था के बारे में बताया। भूमि संबंधित विवादों के निपटारे के लिए थाना स्तर पर लगने वाले विशेष शिविर के बारे में बताया गया।

      वहीं ग्रामीण विकास से संबंधित विभिन्न योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी गई। मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना, मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास सहायता योजना,मुख्यमंत्री वास स्थल क्रय योजना, लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के तहत घर-घर कचरा उठाव, ठोस-तरल अपशिष्ट प्रबंधन आदि के बारे में जानकारी दी गई।

      लोगों को स्वच्छ ग्राम की परिकल्पना को साकार करने में अपनी भूमिका निभाने का आह्वान किया तथा उपभोक्ता शुल्क का भुगतान करने के लिए प्रेरित किया गया। बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना,कुशल युवा कार्यक्रम तथा मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना के बारे में भी जानकारी दी गई।

      विभिन्न प्रकार की आपदा से संबंधित मुआवजा/अनुग्रह अनुदान के बारे में जानकारी दी गई। आपदा से संबंधित किसी भी तरह की जानकारी जिला आपदा नियंत्रण कक्ष में दूरभाष संख्या  06112-233168 पर देने को कहा गया।

      डीपीएम जीविका द्वारा जीविका समूह, ग्राम संगठन एवं संकुल का गठन एवं उनके कार्यकलापों के बारे में जानकारी दिया गया। जीविका दीदियों के आर्थिक उन्नयन एवं स्वाबलम्बन हेतु संचालित विभिन्न योजनाओं के बारे में बताया गया। मुख्यमंत्री सतत जीविकोपार्जन योजना के बारे में भी विस्तार से बताया गया।

      सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा कोषांग श्रीमती गायित्री कुमारी द्वारा विभिन्न प्रकार के सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनाओं की जानकारी दी गई।

      उन्होंने मुख्यमंत्री वृद्धजन पेंशन योजना , कबीर अंत्येष्टि अनुदान योजना, मुख्यमंत्री दिव्यांगजन पेंशन योजना,मुख्यमंत्री पारिवारिक लाभ योजना, मुख्यमंत्री दिव्यांगजन विवाह योजना, मुख्यमंत्री अंतरजातीय विवाह योजना, बुनियाद केंद्र की व्यवस्था तथा माता-पिता भरण पोषण योजना के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

      इन सभी योजनाओं के लिए पात्रता तथा लाभ प्राप्त करने की प्रक्रिया के बारे में एक एक कर जानकारी दी गई। विभाग द्वारा असहाय महिलाओं के लिए संचालित शांति कुटिर के बारे में जानकारी दी गई।

      बताया गया कि जिला की ऐसी किसी भी असहाय महिला को शांति कुटिर में आवासन हेतु दूरभाष संख्या 8210843142 पर जानकारी दी जा सकती है।

      कृषि विभाग के पदाधिकारी ने कृषि विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के बारे में बताया। जैविक खेती के साथ साथ उर्वरक की उपलब्धता के बारे में भी बताया गया।

      लोगों को बताया गया कि उर्वरक की उपलब्धता से संबंधित समस्या के लिए जिला कृषि नियंत्रण कक्ष के दूरभाष संख्या 06112-231143 पर जानकारी दी जा सकती है। आकस्मिक फसल योजना के तहत वैकल्पिक फसलों के बारे में जानकारी दी गई।

      फसल अवशेष प्रबंधन के बारे में किसानों को जागरूक किया गया। इंटीग्रेटेड पेस्ट मैनेजमेंट के बारे में जानकारी दी गई। अन्न भंडारण हेतु गोदाम के निर्माण पर सरकार द्वारा दिये जा रहे अनुदान की प्रक्रिया की जानकारी दी गई। कस्टम हायरिंग सेंटर की स्थापना के बारे में जानकारी दी गई।

      कार्यपालक अभियंता विद्युत आपूर्ति द्वारा एग्रीकल्चर फीडर, एग्रीकल्चर ट्रांसफॉर्मर एवं किसानों को विद्युत संबंध के बारे में जानकारी दी गई।

      बताया गया कि बिजली से संबंधित शिकायत के लिए विभाग के टॉल फ्री नंबर 1912 पर जानकारी दें। हर घर बिजली एप्प के माध्यम से भी शिकायत दर्ज किया जा सकता है।

      भूमि राजस्व से संबंधित विभिन्न प्रकार की सेवाओं के बारे में जानकारी दी गई। भूमि विवाद के निपटारे के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी दिया। जिला में चल रहे भूमि सर्वेक्षण के कार्य के बारे में भी लोगों को जानकारी दी गई।

      इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने भी अपने विचार रखे तथा प्रखंड के विकास से संबंधित मुख्य समस्या/आवश्यकताओं को संज्ञान में लाया। प्रखंड से बहने वाली तीनों नदियों को फल्गु नदी से उदेरा स्थान बैराज के माध्यम से जोड़ने, चंडी-छबिलापुर सड़क के दोहरीकरण, परवलपुर के उत्तर से बायपास सड़क का निर्माण, परवलपुर स्थित बालिका उच्च विद्यालय एवं आदर्श मध्य विद्यालय को प्लस टू विद्यालय में उत्क्रमित करने, पिलिछ में पंचायत सरकार भवन का निर्माण कराने, चौसंडा में पइन की उड़ाही कराने, अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए अपना भवन का निर्माण, पंचायत में उच्च विद्यालय की स्थापना, चोरनिया पइन पर पुल का निर्माण, चौसंडा खेल मैदान में मिनी स्टेडियम का निर्माण आदि आवश्यकताओं के बारे में बताया गया।

      इस अवसर पर उप विकास आयुक्त,अनुमंडल पदाधिकारी हिलसा,पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय, भूमि सुधार उपसमाहर्त्ता हिलसा, सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा कोषांग सहित अन्य विभागों के जिलास्तरीय पदाधिकारी तथा स्थानीय जिला परिषद सदस्य, प्रखण्ड प्रमुख,उप प्रमुख, सभी पंचायतों के मुखियागण उपस्थित थे।

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!