अन्य
    Wednesday, July 17, 2024
    अन्य

      National Highway in Bihar: इस साल तैयार हो जाएगा गया-हिसुआ-राजगीर-नालंदा बिहारशरीफ फोरलेन

      नालंदा दर्पण डेस्क। National Highway in Bihar: राजगीर-नालंदा-बिहारशरीफ फोरलेन एनएच-82, अरवल-जहानाबाद-बिहारशरीफ टू लेन एनएच-110 की मरम्मत और मुजफ्फरपुर बाइपास का निर्माण इस साल पूरा होने की संभावना है। इनका निर्माण पूरा होने से राज्य के किसी हिस्से से लोग राजधानी पटना पांच घंटा में पहुंच सकेंगे।

      फिलहाल गया-हिसुआ-राजगीर-नालंदा-बिहारशरीफ फोरलेन में आरओबी बनाने का काम अंतिम चरण में है। यह अगस्त 2024 तक पूरा होगा।

      खबरों के अनुसार गया-हिसुआ-राजगीर-नालंदा बिहारशरीफ फोरलेन एनएच-82 का निर्माण 93 किमी लंबाई में 2138 करोड़ रुपये से हो रहा है। अभी गया से बिहारशरीफ जाने में करीब चार घंटे लग जाते हैं। अब नयी फोरलेन सड़क बनने के बाद ढाई घंटे लगेंगे। इसके साथ ही यह सड़क बुद्ध सर्किट का महत्वपूर्ण हिस्सा होगी।

      इस सड़क का निर्माण 20 अक्टूबर 2016 को शुरू हुआ था और 2018 में इसका निर्माण पूरा करने की समयसीमा थी। शुरुआत में अनुमानित लागत करीब 925.87 करोड़ रुपये था। विलंब के कारण इसकी लागत में भी बढ़ोतरी हो गयी।

      अरवल-जहानाबाद-बिहारशरीफ टू लेन एनएच-110 की मरम्मत: अरवल जहानाबाद-बिहारशरीफ टू लेन एनएच-110 को करीब 21 किमी लंबाई में मरम्मत कर बेहतर बनाने का काम धीमी गति से हो रहा है। इसके निर्माण की गति तेज कर इस साल पूरा करने का निर्देश दिया गया है।

      इस सड़क के बनने से तीन जिला के लोगों को सीधे तौर पर फायदा होगा। इसमें अरवल, जहानाबाद और नालंदा शामिल हैं। यह सड़क भी बुद्ध सर्किट का महत्वपूर्ण हिस्सा है।

      मुजफ्फरपुर बाइपास का निर्माण भी इसी सालः मुजफ्फरपुर बाइपास का निर्माण 180 करोड़ से 17 किमी लंबाई में हो रहा है। साल 2010 में इसके निर्माण का फैसला लिया गया, लेकिन 2012 से काम शुरू हुआ। इसमें जमीन अधिग्रहण सहित कई अड़चनें आयीं।

      लेकिन वर्ष 2019 में हाइकोर्ट के हस्तक्षेप के बाद इसका काम तेजी से शुरू हुआ, लेकिन कोराना से फिर से समस्या हो गयी। अब इसे इस साल पूरा होने की संभावना है। बाइपास बनने से मुजफ्फरपुर शहर में ट्रैफिक का दबाव घटेगा। नेपाल आना-जाना भी आसान होगा।

      पटना से नेपाल, पूर्णिया सहित गोपालगंज होकर उत्तर प्रदेश जाने-आने वालों को सुविधा होगी। सीतामढ़ी से सोनबरसा जाने की कनेक्टिविटी विकसित होगी। पटना और मुजफ्फरपुर को ईस्ट-वेस्ट कोरिडोर के फोरलेन की कनेक्टिविटी मिल सकेगी।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!
      तस्वीरों से देखिए राजगीर पांडु पोखर एक ऐतिहासिक पर्यटन धरोहर MS Dhoni and wife Sakshi celebrating their 15th wedding anniversary जानें भगवान बुद्ध के अनमोल विचार जानें भागवान महावीर के अनमोल विचार