अन्य
    Sunday, April 21, 2024
    अन्य

      स्कॉर्पियो पलटने से 4 लोगों की मौत, महिला के सामने पड़ी थी मां, बेटी और पति की लाश, चालक की भी हुई मौत

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। नालंदा जिले के खुदागंज थाना क्षेत्र के महमूदा पुल के समीप सोमवार की सुबह अनियंत्रित होकर स्कॉर्पियो सड़क पर पलट गई थी। इस घटना में एक ही परिवार के तीन लोग समेत कुल 4 लोगों की मौत हो गई है। स्कॉर्पियो पर ड्राइवर समेत 9 लोग सवार थे। इनमें एक की स्थिति अब भी गंभीर बनी हुई है।

      4 people died due to overturning of Scorpio dead bodies of mother daughter and husband were lying in front of the woman the driver also died 2स्कॉर्पियो पर सवार होकर परिवार मलमास मेला में कुंड स्नान के लिए जा रहे थे। इसी दौरान ये हादसा हो गया, जिसमें एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। वहीं ड्राइवर सह स्कॉर्पियो मालिक की मौत पटना के निजी अस्पताल में देर रात हो गई।

      मृतकों में एकंगरसराय थाना क्षेत्र के बाजार निवासी 35 साल के शंकर कुमार, उनकी 10 साल की बेटी लक्ष्मी कुमारी, जहानाबाद जिला के अरहेट गांव की रहने वाली शंकर की सास 60 साल की राधा रानी देवी और ड्राइवर एकंगरसराय के स्टेशन रोड निवासी दिलीप राम का 30 साल का बेटा सोनू कुमार है। जबकि शंकर की मां आशा देवी गंभीर रूप से जख्मी हो गई है। वहीं शंकर के 2 बेटे सत्यम, शिवम,पत्नी पिंकी देवी और एक भांजी मामूली रूप से चोटिल हुई थी।

      घटना की कहानी प्रत्यक्षदर्शी की जुबानीः शंकर की पत्नी पिंकी देवी ने बताया कि वह पूरे परिवार के साथ राजगीर मेला जा रही थी। इसी दौरान खुदागंज थाना क्षेत्र के महमूदा पुल के पास अचानक से गाड़ी पलट गई। वह अपने दो बच्चों के साथ स्कॉर्पियो के बीच वाली सीट पर बैठी हुई थी। जब आंख खुली तो देखा कि पति, बेटी और मां सड़क पर खून से लथपथ होकर पड़े हुए हैं। मोबाइल से किसी तरह से आसपास के लोगों ने परिवार से संपर्क साधा। इसके बाद घर परिवार के लोग जुटे और फिर उन्हें पुलिस अपने साथ लेकर थाने चली आई।

      4 people died due to overturning of Scorpio dead bodies of mother daughter and husband were lying in front of the woman the driver also died 3एक घंटा बाद ही बज उठी मौत की घंटीः शंकर के भाई सन्नी कुमार ने बताया कि सुबह करीब 5 बजकर 20 मिनट पर परिवार के लोग कुंड स्नान राजगीर के लिए निकले थे। 6 बजकर 40 मिनट पर फोन बजा और किसी अनजान शख्स ने बताया कि स्कॉर्पियो दुर्घटनाग्रस्त हो गई है और 3 लोगों की मौत हो गई। यह बात सुनकर वे लोग आवाक रह गए और आनन-फानन में घटनास्थल पर पहुंचे। यहां देखा कि सड़कों पर शव क्षत-विक्षत हालत में पड़ा हुआ है। 2 दिन पहले ही भैया की सास कुंडा स्नान के लिए यहां पहुंची थी।

      फल का व्यवसाय कर परिवार को पाल रहा था शंकरः शंकर कुमार तीन भाइयों में दूसरे नंबर पर थे। सभी भाइयों में बंटवारे के बाद अलग-अलग रह रहे हैं। शंकर अपनी पत्नी, तीनों बच्चों और मां की परवरिश फल की दुकान लगाकर कर रहे थे। वहीं इस हादसे के बाद परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है तो जीविकोपार्जन का भी संकट खड़ा हो गया है।

      दरोगा की तैयारी कर रहा थी चालक सोनूः  सोनू दो भाई और दो बहनों में सबसे बड़ा था। स्कॉर्पियो चलाकर वह अपने पिता के साथ घर की जिम्मेदारी संभाल रहा था। बचे हुए समय में वह दरोगा की तैयारी कर रहा था। लोन पर गाड़ी लेकर वह घर की जिम्मेदारियों को संभाल रहा था। इस घटना के बाद सोनू की मां बेसुद होकर पड़ी हुई है। घर में आस पड़ोस के लोग परिवार वालों को सांत्वना देने में जुटे हुए हैं।

      थानाध्यक्ष की नजर में हादसा का कारणः खुदागंज थाना अध्यक्ष बबन राम ने बताया कि टर्निंग के कारण स्कॉर्पियो अनियंत्रित हो गई। इसकी वजह से सड़क पर ही गाड़ी दो बार पलट गई। आगे बैठे लोग गाड़ी का सीसा तोड़ते हुए बाहर निकल गए, इसके कारण उनकी मौत घटना स्थल पर ही हेड इंजुरी की वजह से हो गई। जबकि बीच के सीट पर बैठे हुए भी कुछ लोग गेट खुलने के साथ ही बाहर सड़कों पर गिर गए। जो लोग स्कॉर्पियो में ही फंसे रह गए वे मामूली रूप से जख्मी हो गए। यूडी केस दर्ज कर पुलिस अग्रिम कार्रवाई में जुट गई है। इस घटना में कुल 4 लोगों की मौत हो गई है।

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!