अन्य
    Thursday, July 18, 2024
    अन्य

      सैंड आर्टिस्ट मधुरेंद्र ने रेत पर भगवान महावीर की कलाकृति उकेर दिया अहिंसा परमो धर्मः का संदेश

      पावापुरी (नालंदा दर्पण)। भगवान महावीर की निर्वाणस्थली भूमि नालंदा जिले के पावापुरी में बिहार सरकार के कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के सैजन्य से जिला प्रशासन नालंदा द्वारा आयोजित महावीर के 2548 वें निर्वाण अवसर पर रविवार से शुरू हुए दो दिवसीय पावापुरी महोत्सव 2022 में विख्यात सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र ने अपनी कला का अद्भुत नमूना पेश किया।

      सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र ने महोत्सव पंडाल में बने मुख्य सांस्कृतिक मंच के सामने रखें बालू पर भगवान महावीर का विशाल आकृति उकेर अपनी बेहतरीन कला से अहिंसा परमो धर्म का संदेश दिया हैं। यह मुख्य यह आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

      सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र द्वारा बालू पर उकेरी गयी कलाकृति विश्व के धरोहर में प्रसिद्ध नालंदा के पावापुरी में स्थित भगवान महावीर पर आधारित हैं। इस कलाकृति  को कई प्रदेशों से आये हुए जैन श्रद्धालु व आम नागरिक  भी अपने कैमरे व सेलफोन में अपनी सेल्फी में कैद  कर रहे हैं।

      गौरतलब हो कि सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र सार्क देश नेपाल के विश्व प्रसिद्ध गढ़ी माई मेला, अंतराष्ट्रीय रेत कला उत्सव ओड़िसा, विश्वप्रसिद्ध सोनपुर मेला, बिहार के राजगीर महोत्सव, बौध महोत्सव गया, थावे महोत्सव, मंदार महोत्सव बांका, पंजाब, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, सहित देश विदेश में अनेक सरकारी आयोजनों में अपनी कला का प्रदर्शन कर कर बिहार का नाम अंतराष्ट्रीय स्तर पर गौरवान्वित किया है।

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!