अन्य
    Thursday, July 25, 2024
    अन्य

      Threat to ancient heritage: टिमटिमाकर बंद हो गई राजगीर गंगा-जमुना कुंड की गर्म जलधारा

      राजगीर (नालंदा दर्पण)। Threat to ancient heritage: पिछले कुछ दिनों में हुई बारिश के कारण जहां एक ओर पर्वतीय झरनों की झड़ी लगी हुई है। वहीं दूसरी ओर ब्रह्मा कुंड परिसर स्थित महीनों से बेजान पड़ी गंगा-जमुना की गर्म जलधारा में भी जान आई थी, लेकिन कुछ समय बाद गंगा-यमुना की गर्म जलधारा पुनः बंद हो गई है। इससे स्थानीय लोगों में काफी मायुसी देखी जा रही है।

      बता दें कि अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन नगरी राजगीर का प्रमुख आकर्षण रहे कुंडों की गर्म जल धाराओं व झरनों का अपना अलग ही अध्यात्मिक महत्त्व है। वैभारगिरि पर्वत के तलहटी में ब्रह्म कुण्ड परिसर स्थित गंगा जमुना, मार्कंडेय कुंडों तथा सप्तधारा आदि देशी विदेशी सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा है। पुरुषोत्तम मास मेला, मकर मेला, श्रावणी मेला सहित अन्य धार्मिक अवसरों पर इसका महत्व काफी बढ़ जाता है। यहां स्नान ध्यान और पूजा अर्चना करने के लिए दूर दूर से लोग पहुंचते हैं।

      वहीं पिछले कुछ वर्षों से अच्छी बारिश के अभाव और भूमिगत जल का अंधाधुन दोहन से यहां के कुंडों की जलधाराएं सूख जाते हैं। खासकर गंगा-जमुना गर्मजल धारा का अस्तित्व खतरे में है। इसे लेकर यहां के निवासी चिंता व्यक्त करते रहे हैं।

      इस बार अबतक हुई बारिश से कई महीनों से मृतप्राय गंगा-जमुना की पूर्वी जलधारा शुरू हुई थी। पिछले दो दिनों तक गंगा-जमुना की पूर्वी जलधारा हल्की गति में शुरू हुई थी। मगर पुनः बंद हो गई है। क्योंकि गंगा जमुना की अपना अलग से जलस्रोत है। शायद उस जलस्रोत मार्ग में किसी प्रकार की बाधा प्रतीत होती है।

      कहते हैं कि वर्ष 2018 के बाद लगातार बारिश के अभाव में तथा कुंड क्षेत्र के इर्द-गिर्द हुई डीप बोरिंग के कुप्रभावों के असर से इस कुंड की गर्म जलधारा अदृश्य हो गई। जबकि राजकीय पुरुषोत्तम मास मेला 2023 में यह धारा चालू रहा। गंगा-जमुना कुंड, 22 कुंड और 52 धाराओं में प्रमुखता से शुमार है।

      पहले इन कुंडों की बहती जल धाराओं की आवाज सैंकड़ों मीटर दूर से सुनाई देती थी। लेकिन पिछले फरवरी माह से गंगा-जमुना की जलधारा पूर्णतः बंद है। उम्मीद है कि इस बार यदि अच्छी बारिश हुई तो मृतप्राय गंगा-जमुना गर्मजल धाराएं पुनः फुटेगी।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!
      विश्व को मित्रता का संदेश देता वैशाली का यह विश्व शांति स्तूप राजगीर वेणुवन की झुरमुट में मुस्कुराते भगवान बुद्ध राजगीर बिंबिसार जेल, जहां से रखी गई मगध पाटलिपुत्र की नींव राजगीर गृद्धकूट पर्वत : बौद्ध धर्म के महान ध्यान केंद्रों में एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल राजगीर का पांडु पोखर एक मनोरम ऐतिहासिक धरोहर