अन्य
    Friday, April 12, 2024
    अन्य

      राजगीर कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय छात्रावास भवन बनकर तैयार, लेकिन…

      राजगीर (नालंदा दर्पण)। राजगीर नगर परिषद क्षेत्र में कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की माध्यमिक और उच्च माध्यमिक की छात्राओं के लिए हॉस्टल बिल्डिंग बनकर तैयार है। इस हॉस्टल में एक सौ छात्राओं को आवासन की सुविधा उपलब्ध होगी।

      नया शैक्षणिक सत्र एक अप्रैल से शुरू होने वाला है। शैक्षणिक सत्र 2024-25 का सत्र एक अप्रैल से आरंभ हो जायेगा। एक अप्रैल से ही इस हॉस्टल में रहकर छात्राओं को पढ़ाई करने वाले छात्राओं को कभी और इंतजार करना होगा।

      एक अप्रैल से कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय के इस हॉस्टल में रहकर नौवीं, दसवीं की छात्राएं पढ़ाई आरंभ करना संभव प्रतीत नहीं होता है।

      ज्ञात हो कि कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय के पुराने हॉस्टल बिल्डिंग में आठवीं कक्षा तक की छात्राएं रहकर पठन-पाठन कर रही हैं। यहां की छात्राएं हॉस्टल के बगल के मिडिल स्कूल, बाजार (ब्लॉक परिसर) में पढ़ने के लिए जाती हैं।

      इस हॉस्टल की नवमी-दशमी और 11 वीं 12वीं की छात्राओं की पढ़ाई के लिए आरडीएच प्लस टू स्कूल को चिह्नित किया गया है। अब आठवीं बाद के अधिकारी बोले नवनिर्मित हॉस्टल बिल्डिंग अभी हैंडओवर नहीं किया गया है।

      बताया जाता है कि समय से बिल्डिंग को तैयार हो गया है। लेकिन ठेकेदार की मनमानी और विभागीय उदासीनता के कारण अब भी छोटे-मोटे कार्य बाकी हैं। फलस्वरूप उन कारणों से न तो ठेकेदार द्वारा बिल्डिंग को हैंडओवर किया जा रहा है और न ही शिक्षा विभाग द्वारा उसे हैंडओवर लिया जा रहा है।

      इधर, नालंदा जिला शिक्षा पदाधिकारी राजकुमार का कहना है कि  हैंडओवर के पहले विभागीय इंजिनियरों के द्वारा बिजली, पानी, रोशनी, बेड आदि समुचित व्यवस्था का निरीक्षण किया जायेगा। संतुष्ट होने के बाद बिल्डिंग टेक ओवर लिया जायेगा। बिल्डिंग हस्तानांतरण बाद ही छात्राओं के रहने और पढ़ाई की व्यवस्था हो सकेगी।

      होली मनाना पड़ा महंगा, 20 शिक्षकों पर कार्रवाई की अनुशंसा

      देसी कट्टा के साथ शराब पीते युवक का फोटो वायरल, जानें थरथरी थानेदार का खेला

      नालंदा जिला दंडाधिकारी ने इन 48 अभियुक्तों पर लगाया सीसीए

      राजगीर नेचर-जू सफारी समेत केबिन रोपवे का संचालन बंद

      नालंदा में 497 हेडमास्टर का वेतन बंद, शोकॉज जारी, जानें क्या है मामला

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!