अन्य
    Sunday, July 21, 2024
    अन्य

      Nalanda to Hazaribagh: पेपर लीक सरगना संजीव मुखिया ने 3 माह में किया 2 बड़ा कांड

      नालंदा दर्पण डेस्क। Nalanda to Hazaribagh: बिहार में पिछले 3 महीने में 2 बड़े पेपर लीक कांड को अंजाम दिया गया और दोनों ही पेपर लीक कांड में हजारीबाग और नालंदा का सीधा कनेक्शन सामने आया है। इससे यह भी स्पष्ट होता है कि नालंदा के आलावे संजीव मुखिया झारखंड के हजारीबाग में भी अपना बड़ा तंत्र विकसित कर चुका है। 

      विगत 5 जून को हुई नीट (यूजी) और इसके ठीक पहले 15 मार्च को बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित शिक्षक भर्ती परीक्षा-3.0 में हजारीबाग और नालंदा स्थान की प्रमुख भूमिका रही। इन दोनों पेपर लीक कांड में काफी समानताएं भी सामने आई है।

      खबरों के मुताबिक दोनों ही बार प्रतियोगिता प्रश्न पत्र परीक्षा से पहले परिवहन के दौरान बाहर निकाले जाने की बात सामने आई है। वहीं  दोनों ही बार अभ्यर्थियों को परीक्षा से पहले एक सुरक्षित जगह पर जमा कर प्रश्न पत्र का प्रिंट निकालकर उसके उत्तर रटवाए गए हैं।

      ईओयू टीम सूत्रों के अनुसार शिक्षक भर्ती परीक्षा और नीट पेपर लीक के तार आपस में जुड़े हुए हैं। इन दोनों ही पेपर लीक कांड में संजीव मुखिया गिरोह की प्रमुख भूमिका उभरकर सामने आई है। शिक्षक भर्ती परीक्षा के पेपर लीक कांड का मास्टर माइंड संजीव मुखिया का बेटा छद्म डॉक्टर शिव कुमार उर्फ बिट्टू रहा, वहीं नीट पेपर लीक कांड में खुद सरगना संजीव मुखिया रहा।

      नालंदा में लीक हुआ शिक्षक भर्ती परीक्षा प्रश्न पत्र और  हजारीबाग में रटाए गए उसके उत्तरः ईओयू सूत्रों के अनुसार तीसरे चरण की शिक्षक भर्ती परीक्षा का प्रश्न-पत्र परीक्षा से तीन दिन पहले ही लीक हो चुका था।

      प्रश्नपत्रों को ट्रांससपोर्ट के माध्यम से पटना से नवादा भेजा जा रहा था। इसी दौरान कुरियर कंपनी के सांठ-गांठ से नालंदा के नगरनौसा के बुद्धा फैमिली रेस्तरां में प्रश्न-पत्र को स्कैन कर लिया गया।

      इस दौरान मास्टरमाइंड डा. शिव कुमार और उसके पिता संजीव मुखिया और गिरोह के अन्य सदस्य भी मौजूद थे। इसके बाद 10 से 12 लाख रुपए प्रति अभ्यर्थी से वसूली कर झारखंड के हजारीबाग समेत अन्य होटल, रिर्जाट व अन्य सुरक्षित जगहों पर उत्तर रटवाए गए।

      हजारीबाग के कोहिनूर होटल से 250 से अधिक की गिरफ्तारी इसी सिलसिले में हुई थी। डा. शिव कुमार अपने गिरोह के सदस्यों के साथ उज्जैन से गिरफ्तार हो चुका है। बिहार पुलिस की सिपाही भर्ती परीक्षा समेत अन्य परीक्षाओं में भी इस गिरोह के सदस्यों की भूमिका सामने आई है।

      हजारीबाग से बाहर आया नीट प्रश्न पत्र, नालंदा के अबतक आधा दर्जन धराएः नीट परीक्षा में हजारीबाग के ओएसिस स्कूल परीक्षा केंद्र का बुकलेट परीक्षा से पहले बाहर आ गया था। जांच में परीक्षा केंद्र या वहां तक लाए जाने के दौरान प्रश्न-पत्र के बक्से और पालीबैग से छेड़छाड़ कर पेपर निकाले जाने की आशंका जताई जा रही है। हजारीबाग से नीट प्रश्न-पत्र को निकालकर संजीव मुखिया गिरोह ने देवघर से गिरफ्तार चिंटू को वॉट्सऐप पर भेजा था।

      नालंदा के मूल निवासी चिंटू ने उसे प्रिंट निकालकर पटना में अमित आनंद और नीतीश कुमार को दिए जहां करीब 30-35 अभ्यर्थियों को परीक्षा से पहले प्रश्न-पत्र के उत्तर रटवाए गए। इस मामले का आरोपित नालंदा का ही संजीव मुखिया है, जो गिरफ्तार डा. शिव का पिता है।

      इसके अलावा देवघर से पेपर लीक मामले में जिन पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है, उनमें चार बालदेव उर्फ चिंटू, पंकु, राजीव उर्फ कारू और परमजीत उर्फ बिट्टू नालंदा के ही हैं। पटना में परीक्षा के दिन गिरफ्तार नीतीश कुमार बिहार लोक सेवा आयोग शिक्षक भर्ती परीक्षा के पेपर लीक मामले में भी हजारीबाग से पकड़ा गया था। जमानत पर छूटने के बाद अब वह नीट गड़बड़ी में पकड़ा गया है।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!
      तस्वीरों से देखिए राजगीर पांडु पोखर एक ऐतिहासिक पर्यटन धरोहर MS Dhoni and wife Sakshi celebrating their 15th wedding anniversary जानें भगवान बुद्ध के अनमोल विचार जानें भागवान महावीर के अनमोल विचार