अन्य
    Saturday, July 20, 2024
    अन्य

      जल्दबाजी में अधूरा प्रस्तुत किए गए जातिगत आंकड़े : अमित राजन

      इस्लामपुर (नालंदा दर्पण)। ऑल इंडिया चन्द्रवंशी युवा एसोसिएशन के संस्थापक अध्यक्ष व पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित राजन चन्द्रवंशी ने सरकार द्वारा जारी जातिगत आंकडे में चन्द्रवंशी समाज के आँकड़े को अधूरा और जल्दबाजी में प्रस्तुत आँकडा बताया।

      उन्होंने कहा कि बहुत गाँव के चन्द्रवंशी की संख्या की गिनती ही नहीं की गयी। बहुत स्थान ऐसे थे, जहाँ गिनती होनी थी, लेकिन उसी दरम्यान हाईकोर्ट द्वारा रोक लगा दिया गया। रोक हटने के बाद लोग इंतजार में ही थे, तभी अचानक से गाँधी जयंती के अवसर पर जनगणना को सार्वजनिक कर दिया गया।

      अमित राजन ने बताया कि जनगणना के आंकडे जब सार्वजनिक की गयी तो लोगों को लगा की यह कोई गलत और अफवाह भरा सोशल मीडिया का फेक न्यूज है। ऐसा इसलिए था कि बहुत से स्थान पर तो जनगणना हुई ही नहीं। जिन स्थानों पर परिवार वालों की गिनती ही नहीं हुई वैसे लोगों द्वारा जनगणना के सरकारी आँकड़ों पर विश्वास कर पाना मुश्किल ही होगा।

      उन्होंने बताया कि समाज के संगठन द्वारा कई बार सदस्यता अभियान या अन्य योजना के द्वारा चन्द्रवंशी की गिनती की गयी, जिसमें चन्द्रवंशी की संख्या 2018 में लगभग 70 लाख बतायी गयी है, जो संगठन के पत्रिका के माध्यम से प्रकाशित भी हुई है। ऐसे में चन्द्रवंशी समाज की अधूरी संख्या को आँकडों के रूप में पेश करने से समाज में निराशा का भाव पैदा हुआ है।

      हमारा संगठन यह मांग करता है कि सरकार समय लेकर वैसे स्थानों की जनगणना भी करें जहाँ गिनती नहीं हो पायी हो और दुबारा सही आंकडा प्राप्त कर पुनः जातिगत आँकड़े को प्रस्तुत किया जाय।

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!