अन्य
    Saturday, July 20, 2024
    अन्य

      मुखिया को नहीं पता कहां है पंचायत की संचिकाएं, रोजगार सेवक कहता है- तू नीच जात है…

      नूरसराय (नालंदा दर्पण)। नालंदा जिला में पंचायती राज व्यवस्था को सरकारी अफसरों और कर्मियों ने मजाक बनाकर रख दिया है। एक ऐसा ही मामला नूरसराय प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत राज अजयपुर से सामने आया है।

      ग्राम पंचायत राज अजयपुर के मुखिया महेश मोची ने नालंदा जिला पंचायती पदाधिकारी और उप विकास आयुक्त से लिखित शिकायत करते हुए उंच जात मानसिकता से ग्रस्त रोजगार सेवक पर गंभीर आरोप लगाए हैं, लेकिन अफसर द्वय स्तर से कोई कार्रवाई नहीं किया जाना एक अलग सबाल खड़ा करता है।

      मुखिया ने लिखा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के संकल्प और बिहार सरकार के निर्देशानुसार सभी ग्राम पंचायत में ग्राम भवनों का निर्माण कराया गया था और उनके ग्राम पंचायत अजयपुर में भी ग्राम पंचायत भवन बना हुआ है।

      बिहार राज्य पंचायत के नियमावली के अनुसार सभी पंचायत सचिव एवं रोजगार सेवक को पंचायत से सम्बन्धित सभी तरह के संचिकाओं एवं कागजातों को पंचायत सरकार भवन में सुरक्षित रखना है।

      लेकिन इस पंचायत के पंचायत रोजगार सेवक मनरेगा से सम्बन्धित पंचायत की सभी कागजात कहाँ रखा है, यह इसकी कोई जानकारी मुखिया को नहीं है। जब मुखिया द्वारा कागजातों को देखने हेतू मांग किया जाता है तो पंचायत सेवक द्वारा कहा जाता है किं “तुम छोटी जाति के हो, जितना हम बोले उतना ही करो। जब मुझे आवश्यकता होगा हम तुमसे हस्ताक्षर करवा लेंगे। हम मालिक है तुमको यह सबसे मतलब नहीं रखना है।”

      इस सम्बन्ध में मुखिया महेश मोची ने कई बार नूरसराय प्रखण्ड कार्यक्रम पदाधिकारी को भी अवगत कराया है। लेकिन वह भी मुखिया को महादलित अनुसूचित जाति होने के कारण नजर अंदाज कर देते हैं। जब प्रखण्ड कार्यक्रम पदाधिकारी का इच्छा होता है, तब रोजगार सेवक के माध्यम से अपने मनमाफिक योजनाओं का सूची पर दबाव बनाकर मुखिया से हस्ताक्षर करा लेते हैं और बिचौलियों के हाथ बेच देते हैं।

      मुखिया ने अफसर द्वय से मनरेगा से सम्बन्धित पंचायत स्तरीय संचिकाएं पंचायत भवन अजयपुर में रखकर कार्य निष्पादित करने हेतु सम्बन्धित सरकारी कर्मी को निर्देशित करने एवं जातीय भेद-भाव को संज्ञान में लेने की पुनः मांग की है।

      इधर, इस मामले को लेकर भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं नालंदा विधानसभा प्रत्याशी कौशलेन्द्र कुमार उर्फ छोटे मुखिया ने कहा कि दरअसल पूरा खेल स्थानीय विधायक एवं ग्रामीण विकास मंत्री सरवन कुमार का है। मंत्री अपने पद का दुरुपयोग कर पंचायतों एवं पंचायत समिति में बड़े पैमाने पर योजनाओं में हेरफेर करवाकर अपने लोगों को लाभ पुहंचा बंदरबांट करवाने का काम रहे हैं।

      नालंदा लोकसभा चुनाव को लेकर सभी हेलीपैडों को अलर्ट रखने का आदेश

      बैंककर्मियों ने बिहारशरीफ नगर में ऋण वापसी को लेकर चलाया अनोखा अभियान

      राजगीर-बिहारशरीफ मार्ग पर महिला की गला रेतकर निर्मम हत्या

      [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=H4XgbdyJs0Q[/embedyt]

      नालंदा में BSEB की बड़ी कार्रवाई, 36 हाई स्कूल की मान्यता रद्द

      मंत्री श्रवण कुमार के घर में सरकारी योजनाओं की लूट का आलम देखिए

      1 COMMENT

      Comments are closed.

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!
      विश्व को मित्रता का संदेश देता वैशाली का यह विश्व शांति स्तूप राजगीर वेणुवन की झुरमुट में मुस्कुराते भगवान बुद्ध राजगीर बिंबिसार जेल, जहां से रखी गई मगध पाटलिपुत्र की नींव राजगीर गृद्धकूट पर्वत : बौद्ध धर्म के महान ध्यान केंद्रों में एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल राजगीर का पांडु पोखर एक मनोरम ऐतिहासिक धरोहर