बोले बेन प्रखंड प्रमुख- मुझे जेल भिजवाने के पीछे मंत्री का हाथ | Nalanda Darpan

बोले बेन प्रखंड प्रमुख- मुझे जेल भिजवाने के पीछे मंत्री का हाथ

Share Button

“इसके बाद पुलिस द्वारा आनन-फानन में कार्रवाई करते हुए प्रखंड प्रमुख को गिरफ्तार कर पहले दिन में बेन थाना में रखा गया और फिर वहां से रात 8 बजे उठाकर जिला मुख्यालय बिहारशरीफ स्थित बिहार थाना की हाजत में रखा गया और इसकी सूचना परिवार वालों को सुबह देर बाद तब दी गई, उन्हें जेल भेजने की पूरी तैयारी कर ली गई। प्रखंड प्रमुख का मोबाईल भी इस दौरान स्वीच ऑफ करा दिया गया। इससे उनके परिजन रात भर चिंतित रहे…”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। सीएम नीतीश कुमार के गृह जिले में बेन प्रखंड प्रमुख धनंजय कुमार की गिरफ्तार कर जेल भेजने की कार्रवाई ने राजनीतिक तूल पकड़ लिया है। राजद जिलाध्क्ष ने जहां पुलिस पर सत्तारुढ़ माननीयों द्वारा तंग किए जाने का आरोप लगाया है, वहीं पुलिस अभिरक्षा में जेल जाने के क्रम में प्रखंड प्रमुख ने खुद के खिलाफ शाजिस बताते हुए सीधे मंत्री श्रवण कुमार पर हमला बोला है। मंत्री भी बेन के ही रहने वाले हैं।

नालंदा जिले के बेन प्रखंड प्रमुख सह राजद नेता धनंजय कुमार और सीडीपीओ प्रभा रानी के बीच महज तू-तू मैं-मैं का मामला गंभीर आरोपों के साथ थाना पहुंच गई।

प्रखंड प्रमुख की परिजनों की मानें तो पुलिस ने सीडीपीओ की शिकायत पर तत्काल कार्रवाई की, वहीं प्रखंड प्रमुख की शिकायत पर घटना की अगली सुबह मामला दर्ज किया गया। शिकायत आवेदन की प्राप्ति प्रति तक नहीं दी गई।

बिहार थाना से पुलिस अभिरक्षा में बिहारशरीफ कोर्ट भेजे ले जाने के दौरान प्रखंड प्रमुख धनंजय कुमार ने मीडिया को बताया कि वार्ड नंबर-4 और वार्ड नंबर-8 एकसारा में सीडीपीओ प्रभा रानी अनियमियता करके मंत्री श्रवण कुमार के परिवार की बहाली कर दिया है।

प्रखंड प्रमुख ने साफ तौर पर कहा कि यह सब मंत्री के ईशारे पर एक शाजिश के तहत किया गया है। पुलिस ने एकतरफा कार्रवाई की है। इससे वे डरने वाले नहीं हैं और इसके पहले भी मंत्री उनपर जानलेवा हमला करवा चुके हैं। चूकि वह मामला सत्ता पक्ष के जुड़े कद्दावर मंत्री से जुड़ा था, इसलिए पुलिस ने उसे ठंढे बस्ते में डाल रखा है।

प्रखंड प्रमुख ने साफ तौर पर बेन थाना पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप लगाया है। बकौल प्रखंड प्रमुख, पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई से भी साफ स्पष्ट हो गया कि वह लागू आचार संहिता के दौरान भी सत्तासीन मंत्री के ईशारे पर काम कर रही है।

उधर, राजद जिलाध्यक्ष हुमायूं खान ने कहा कि बड़े माननीय नहीं चाहते हैं कि कोई छोटा जनप्रतिधि आगे बढ़े और कुछ अच्छा करके नाम कमाए। यहां कि पुलिस-प्रशासन भी राजद से जुड़े लोगों को निशाना बनाकर कार्रवाई कर रही है।

उन्होंने कहा कि यहां राजद का भी अपना जनाधार है। पुलिस को एकतरफा कार्रवाई से परहेज करने से परहेज करनी चाहिए। पुलिस ने बेन प्रखंड प्रमुख की गिरफ्तारी और बिना पड़ताल के जेल भेजने की कार्रवाई की गई है, उससे सत्तादल की मंशा साफ दिखती है। वह अपने विरोधियों को भयभीत करने की रणनीति पर काम कर रही है।

राजद नेता ने बताया कि इस मामले को लेकर सारे कार्यकर्ता एकजूट हो बैठक करेंगे और आगे की रणनीति तय करेंगे।

पुलिस अभिरक्षा में बोले प्रखंड प्रमुख ( भाग-1)ः……

287

Related posts:

ऐसे अनस्कील्ड चला रहे हैं बिहार स्कील डेवलपमेंट मिशन
बिहार का सबसे बड़ा घूसखोर बना राजगीर अंचल का यह राजस्व अमीन
नगरनौसा में 671 लोगों का यूं हुआ सरकारी गृह प्रवेश
राजगीर में 2 लोगों को गोलियों से भूना, मौत
'पंचायत माननीय' की करतूत, सचिव को पीटा,फाड़े कागज
पूर्व विधायक ने कांग्रेस मिलन समारोह में दिखाई अपनी ताकत
हिलसा में बाढ़ के कंपाउंडर की गोली मार कर हुई हत्या का खुलासा, बहनोई ने यूं मरवाया
सजी रह गई जनता दरबार, नहीं पहुंचे डीएम, मायूस लौटे लोग
नगरनौसा थानाध्यक्ष को शराब की तलाशी लेना पड़ा महंगा, एसपी से हुई झूठी शिकायत
डीएम-एसपी ने ईवीएम-वीवीपैट स्ट्रांग रूम का यूं किया निरीक्षण
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: @सर्वाधिकार सुरक्षित