अन्य
    Thursday, May 30, 2024
    अन्य

      हरनौत सवारी डिब्बा मरम्मत कारखाना में ठेका मजदूरों का भारी शोषण

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। नालंदा जिला अवस्थित हरनौत सवारी डिब्बा मरम्मत कारखाना में नियमित कर्मचारियों के लिए यूनियन लगातार आवाज उठाते रही है। जबकि यहां ठेकेदार के अंदर काम कर रहे लगभग पांच सौ निजी मजदूर का आवाज उठाने वाला कोई संगठन नहीं है।

      Heavy exploitation of contract laborers in Harnaut Railway Factory 1यहां जो भी मजदूर अपने वेतन, छुट्टी, कार्य घंटे, सुरक्षा उपकरण आदि समस्याओं का बात अपने ठेकेदार से करता है, उसे अगले दिन काम से हटा दिया जाता है। ठेकेदार के द्वारा कर्मचारियों का लगातार आर्थिक, मानसिक व शारीरिक रूप से शोषण किया जाता है।

      इन मजदूरों को 12- 12 घंटे तक प्रतिदिन काम लेने के बावजूद भी उनके साप्ताहिक छुट्टी का पैसा नहीं दिया जाता है। मजदूरों के आर्थिक मजबूरी का फायदा उठाकर उन्हें निर्धारित न्यूनतम मजदूरी भी नहीं दिया जाता है। जबकि यहां कार्य करने वाले अधिकतर मजदूर कुशल कारीगर के रूप में कार्य करते हैं।

      इन मजदूरों को बैंक खाते के बजाय हाथ में नगद पेमेंट किया जाता है। ताकि इनका आर्थिक शोषण किया जा सके। मजदूरों का श्रमिक पोर्टल पर डाटा रखने का प्रावधान है। परंतु ज्यादा मजदूरों से काम तो लिया जाता है, मगर इनका रिकॉर्ड नहीं रखा जाता है।

      इन मजदूरों का श्रमिक पोर्टल पर रिकॉर्ड रखकर बैंक खाते के माध्यम से पेमेंट किया जाए, तो इनका शोषण होने का संभावना कम हो जाएगा। कुछ ठेकेदार एक ही मजदूर का कई शौप में श्रमिक पोर्टल पर रिकॉर्ड रखें हैं।

      नटवरलाल निकला राजगीर नगर परिषद का सस्पेंड टैक्स दारोगा

      बिहारशरीफ में ब्राउन शुगर की गिरफ्त में आए एक और युवक की मौत

      ACS केके पाठक के प्रयास से स्कूली शिक्षा में दिख रहा सुधार

      ट्वीटर X से Video Story Reels डाउनलोड करने का आसान तरीका

      फेसबुक से Video Story Reels Download करने का आसान तरीका

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!