अन्य
    Friday, April 12, 2024
    अन्य

      नालंदा में बनेंगे पुलिस 20 नाका, फरार वांछित को पकड़ कर जेल भेजने का आदेश

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। आसन्न लोकसभा आम निर्वाचन को लेकर नालंदा पुलिस काफी तेजी से अपराधियों की गिरफ्तारी करने में जुटी हुई है।

      पुलिस अधीक्षक अशोक मिश्रा ने सभी थानाध्यक्षों को सख्त निर्देश दिया है कि थाना क्षेत्र में जो भी फरार और वांछित अपराधी है, उसे जल्द से जल्द गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया जाए, ताकि चुनाव में बाधा उत्पन्न होने की संभावना नहीं हो। इसे लेकर जिले में एक कंपनी बीएसएफ आयी हुई है, जिसे विभिन्न क्षेत्रों में अपराधियों की  इसके लिए गिरफ्तारी के लिए लगाया गया है।

      उन्होंने बताया कि आसन्न लोकसभा आम निर्वाचन को शांतिपूर्ण एवं भयमुक्त वातावरण में संपन्न कराने के लिए करीब 14 हजार पुलिस बल की परिवहन विभाग ने पूरी तैयारी कर रखी है।

      उन्होंने बताया कि 20 नाका बनाया जायेगा, ताकि आने-जाने वाले अपराधियों पर कड़ी नजर रखी जाए और गिरफ्तारी की जाए। उन्होंने बताया कि जल्द ही जिले में सीपीएमएफ की कई कंपनियां आयेंगी, कांडों में वांछित अपराधी जो कई महीनों, वर्षों से फरार चल रहे हैं। हर हाल में गिरफ्तारी करने का आदेश थानाध्यक्ष को दिया गया है।

      बीएसएफ जवानों की विधि व्यवस्था में लगी ड्यूटीः  बिहारशरीफ आसन्न लोकसभा चुनाव को लेकर जिले में अभी से ही एक कंपनी बीएसएफ आ गई है। बीएसएफ जवान नालंदा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के संवेदनशील बूथ का निरीक्षण, एरिया डोमिनेशन और वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी में जुट गई है।

      सदर डीएसपी नुरुल हक ने बताया कि सघन वाहन जांच भी की जा रही है। पुलिस जवानों को निर्देश दिया गया है कि वाहन जांच के क्रम में वाहनों को रुकवाया जाए। इसके बाद वाहनों के डिक्की की जांच भी की जानी चाहिए।

      उन्होंने बताया कि बीएसएफ के जवान शहर में गस्ती भी कर रहे हैं। वाहनों की जांच में भी तेजी आएगी। अवैध हथियारों की बारामदगी भी हो सकेगी। एक फ्लाइंग स्क्वायड का भी गठन किया गया है, जो समय-समय पर अपराधियों पर कार्रवाई करेगी।

      चुनाव घोषणा के बाद वाहन मालिकों को भेजा जायेगा नोटिस: वहीं लोकसभा चुनाव को लेकर छोटे-बड़े कई प्रकार के वाहनों की जरूरत होती है। इस क्रम में नालंदा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव संपन्न कराने के लिए 2800 वाहनों की जरूरत पड़ेगी, जबकि जिले में 4800 वाहन उपलब्ध है। मतदान केंद्र तक मतदानकर्मियों, पुलिस बल, पारा मिलिट्री फोर्स, दंडाधिकारियों, पदाधिकारी को पहुंचने के लिए छोटे-बड़े वाहनों की जरूरत होती है।

      जिला परिवहन पदाधिकारी सह नोडल पदाधिकारी परिवहन कोषांग ने बताया कि चुनाव के नोटिफिकेशन के बाद वाहन मालिकों को नोटिस भेजा जाएगा, ताकि समय पर चुनाव कार्य के लिए वाहनों को जमा कर सकें।

      उन्होंने बताया कि वाहन मालिकों को नोटिस का तामिला कराने के लिए थानाध्यक्ष, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी को जिम्मेदारी दी जायेगी। जिला जरूरत है जिले में 1500 पुलिस बल उपलब्ध है।

      परिवहन पदाधिकारी ने बताया कि चुनाव कार्य के लिए मिनी बस, स्कॉर्पियो, बोलेरो पिकअप वैन आदि प्रकार के वाहनों की जरूरत होती है। बड़े ट्रक की जरूरत नहीं के बराबर चुनाव कार्य में पड़ती है।

      उन्होंने बताया कि जिले में आवश्यकता से अधिक वाहन है। पिछले चुनाव में दूसरे जिले को इस जिले के वाहन को भेजा गया था। उन्होंने बताया कि आवश्यकता आने पर दूसरे जिले को भी वाहन उपलब्ध कराए जायेंगे।

      बारात देख रही युवती को बदमाश ने कनपटी में मारी गोली, मौत

      हर्ष फायरिंग मौत मामले में नया मोड़, छात्रा को निशाना लगाकर मारी गई गोली

      हर्ष फायरिंग मौत मामले में नया मोड़, छात्रा को निशाना लगाकर मारी गई गोली

      राजगीर के सभी चौक-चौराहों से CCTV कैमरा गायब, CM ने किया था उद्घाटन

      टीआरई-1 और टीआरइ-2 के BPSC टीचरों की प्रतिनियुक्ति पर रोक

       

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!