अन्य
    Monday, May 27, 2024
    अन्य

      नालंदा के इन 420 फर्जी नियोजित शिक्षकों की काउंसलिंग पटना में शुरु

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा (nalanda) में सक्षमता परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले नियोजित शिक्षकों में करीब 1051 नियोजित शिक्षकों को शिक्षा विभाग के द्वारा संभावित फर्जी शिक्षकों की सूची में रखा गया है। उनकी जांच (counseling) पटना में की जा रही है।

      इन नियोजित शिक्षकों में से अधिकांश शिक्षकों के एसटीइटी तथा टीइटी प्रमाण पत्र की संख्या एक ही है, तो कई शिक्षकों के नाम, पिता का नाम तथा जन्म तिथि तक एक समान पाया गया है। कई शिक्षकों के द्वारा एक ही प्रमाण पत्र पर विभिन्न जिलों में नौकरी की जा रही है।

      ऐसे सभी शिक्षकों को शिक्षा विभाग के द्वारा विगत 7 मार्च से 23 मार्च तक पटना  में आयोजित काउंसलिंग  में शामिल होने के लिए बुलाया गया था। लेकिन यहां के 420 शिक्षकों ने उक्त तिथि की काउंसलिंग में शामिल नहीं हुए।

      अब विभागीय निदेशक माध्यमिक शिक्षा कन्हैया प्रसाद श्रीवास्तव द्वारा जारी पत्र के आलोक में एक बार फिर वैसे 420 शिक्षकों को 10 से 15 अप्रैल के बीच पटना के नया सचिवालय स्थित डॉ. मदन मोहन झा स्मृति सभागार में काउंसलिंग के लिए बुलाया गया है। प्रत्येक दिन 80-80 शिक्षकों की काउंसलिंग की जायेगी। इस आलोक में उन्होंने जिला शिक्षा पदाधिकारी को 9 अप्रैल को एक पत्र भेजा है।

      इस काउंसलिंग में नालंदा जिले के भी 42 संभावित फर्जी शिक्षकों को अपने सभी शैक्षणिक तथा प्रशैक्षणिक प्रमाण पत्रों के साथ बुलाया गया है। यदि इन शिक्षकों के प्रमाण पत्रों का भौतिक सत्यापन में सही पाया जाता है तो यह सभी शिक्षक किसी भी प्रकार की कार्रवाई से बच जाएंगे तथा विशेष शिक्षक बनकर राज्य कर्मी का दर्जा प्राप्त कर लेंगे।

      लेकिन यदि शिक्षकों के द्वारा निर्धारित तिथि को काउंसलिंग में भाग नहीं लिया जाता है तो विभाग के द्वारा इन्हें फर्जी शिक्षक घोषित कर दिया जाएगा तथा इन पर नियमानुसार कार्रवाई भी की जायेगी। इस परिस्थिति में यदि नालंदा जिले के नियोजित शिक्षकों के प्रमाण पत्र सही नहीं पाए जाते हैं तो भी इन पर कार्रवाई होने की संभावना बढ़ जाती है। अब फर्जी शिक्षक खुद को अब चारों तरफ से फंसा हुआ महसूस कर रहे हैं।

      दरअसल, निकाय शिक्षक सक्षमता परीक्षा 2024 का प्रथम ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने के क्रम में बीटीईटी, सीटीईटी एसटीईटी के रौल नंबर प्रमाण पत्र के अनुसार यहां 1051 शिक्षक अभ्यर्थी फर्जी पाए गए हैं। अबतक जिन अभ्यर्थियों ने विभागीय जांच में हिस्सा नहीं लिया है, उनमें प्रावि मदनपुर, एकंगरसराय के सतीश कुमार, एनपीएस जफरपुर के शिक्षक पंकज कुमार, हरनौत प्रखंड के मध्य विद्यालय तीरा के शिक्षक कुमारी रचना गुप्ता, गिरियक प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय कोयरी बिगहा के शिक्षक मीनू कुमारी, कतरीसराय प्रखंड के मध्य विद्यालय दरवेशपुरा के शिक्षक नंदिनी, सरमेरा के उत्क्रमित मध्य विद्यालय मोहनपुर के शिक्षक पिंकी कुमारी, परबलपुर प्रखंड के पीएस फतेहपुर के शिक्षक पूनम कुमारी, रहुई प्रखंड के प्रावि रामपुर के प्राची, गिरियक के मवि चोरसुआ के शिक्षिका रिंकी कुमारी, इस्लामपुर के प्रावि सकरी के शिक्षक तिरयुगी प्रसाद, हरनौत के उमवि जोररपर के शिक्षक सविता कमारी इस्लामपुर के प्रावि सकरी के शिक्षक शीला कुमारी, कतरीसराय के उत्क्रमित हाई स्कूल गोवर्धन बिगहा के शिक्षक श्रवण कुमार, नगरनौसा के प्रावि मुसहरी के शिक्षक स्मृति स्नेहा, बेन के एनपीएस आजाद नगर के शिक्षक सुधा कुमारी, राजगीर के विवेक नंद मवि के शिक्षक विनय कुमार, नूरसराय प्रावि अधियारपर के शिक्षक अमित कुमार, परबलपुर के प्रावि गांधीनगर के दीपक कुमार, प्रावि लोदीपुर- दरियापुर के खुशबू कुमारी, बिहारशरीफ के उमवि मजीदपुर के मनीष कुमार चौधरी, गिरियक के मवि चोरसुआ के साक्षी सुमन, नगरनौसा के प्रावि खतासराय की बबीता कुमारी, चंडी के नवसृजित प्रावि मंशापुर की मोनी कुमारी, हरनौत के प्रावि शाहपुर की प्रेमलता कुमारी, परबलपुर के उमवि विजयपुर के मो. बैजुल कमर हासमी, गिरियक के उमवि पोखरपर के कविता सुमन, उमवि जीवल बिगहा के राजेश कुमार, मवि घोसरावां के रंजना कुमारी, बेन के उर्दू प्रावि मौरा की शैला कुमारी, गिरियक के मवि आदमपुर के शिक्षक सैय्यद परवेज अहमद, इस्लामपुर प्रखंड के प्रावि जोलह बिगहा की नीतू कुमारी, चंडी के प्रावि रसलपुर के शिक्षक राहुल कुमार, उमवि बलवापर, हिलसा के राजीव कुमार, उमवि गदनपुरा, चंडी के श्वेता रानी, प्रावि अरियावां, नगरनौसा के संतोष कुमार राज, प्रावि गंजपर चंडी के खुशबू कुमारी तथा प्रावि बरैठा गिरियक के विभा कुमारी शामिल है।

      इन शिक्षक-शिक्षिकाओं को उपस्थित होने की तिथि भी विभागीय निदेशक द्वारा निर्धारित की गयी है। जारी अभ्यर्थी क्रमांक के अनुसार 10 अप्रैल से 15 अप्रैल तक इन अभ्यर्थियों को उपस्थित होकर अपना कागजात सत्यापित कराना है।

      गर्मी की छुट्टी को लेकर शिक्षा विभाग का नया आदेश, जानें कैसे खुलेंगे स्कूल

      शादीशुदा महिला के प्रेम चक्कर में पड़े युवक को मिली भयानक मौत

      किताबों में भारी कमीशन के बीच चंडी के निजी स्कूल बनते जा रहे हैं ‘बुक डीलर’

      ACS केके पाठक का शुक्रगुजार हुआ यह अनुसूचित जाति आवासीय बालिका विद्यालय

      ठेला चालक ने ही सुपारी देकर करायी चंडी निवासी वेंडर साथी की हत्या

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!