अन्य
    Tuesday, May 28, 2024
    अन्य

      कतरीसराय करंट हादसा में बिजली विभाग की मिलिभगत औऱ शराब कारोबार का भी हाथ

      कतरीसराय (नालंदा दर्पण)। स्थानीय कतरीसराय थाना क्षेत्र अंतर्गत तारा बीघा गांव में बीते दिन बिजली के करंट से मारे एक ही परिवार के तीन सदस्यों के मौत की खबर से पूरे प्रखंड में शोक व्याप्त हो गया है। वहीं मौत के बाद बिजली विभाग अपने दायित्व से पल्ला झाड़ रहा है।

      बताते चलें कि पिछले दिन अवैध बिजली तार के घेरे के चलते तारा बिगहा गांव में तीन मौत हो गई थी। इससे बिजली विभाग अपना दायित्व निभाने के बजाय पल्ला झाड़ लिया है।

      राजगीर जोन के बिजली विभाग के अधिकारी कहते हैं कि हमारे यहां से उसका कनेक्शन नहीं है। वहीं वारसलीगंज जोन के बिजली विभाग के अधिकारी कहते हैं कि हमारे यहां से उसका कनेक्शन नहीं है। तो सवाल उठता है क इतने दिनों से दोनों जगह के बिजली विभाग के अधिकारी कुम्भकरणी नींद में सोए हुए थे।

      जब कोई बिना कनेक्सन के चोरी से बिजली जला रहा था तथा तालाब के चारों तरफ बिजली का नंगा तार का घेरा बना कर उसमें बिजली प्रवाहित कर जला रहा था। अभी तक उन आरोपियों पर बिजली विभाग द्वारा थाने में किसी भी तरह का मुकदमा करके जुर्माना वसूलने की कार्रवाई क्यों नहीं किया गई है। इसमें बिजली विभाग कि लापरवाही के साथ साथ मिलीभगत कि बू आ रही है।

      अंततः जब बिजली विभाग द्वारा प्राथमिकी नहीं किया गया तो मृतक के भाई संतोष कुमार के द्वारा स्थानीय थाना में लिखित शिकायत देकार प्राथमिकी दर्ज कराया गया है। जिसमें नवादा जिला अन्तर्गत वारसलीगंज थाना क्षेत्र के खिरभोजना गांव निवासी प्रमोद महतो बल्द बाली महतो तथा गुलशन कुमार बल्द प्रमोद महतो को नामजद अभियुक्त बनाया गया है ।

      वहीं आज नालंदा जिला अति पिछड़ा आरक्षण बचाओ संघर्ष मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष ने सह पूर्व बिधान परिषद रामबली सिंह ने तारा बिगहा गांव में घटना स्थल का दौरा करते हुए मृतक के परिजन से मिलकर संभावना दिया और कहा कि तारा बिगहा गांव में अति पिछड़ा समाज से आने वाले चंद्रवंशी समाज के 28 वर्षीय पंकज कुमार, 25 वर्षीय मिठू कुमार एवं 14 वर्षीय गुलशन कुमार की निर्मम हत्या सामंतवादी जाति से आने वाले प्रमोद महतो द्वारा एक साजिश के तहत किया गया है।

      उन्होंने कहा कि छोटे से तालाब में जिसकी रकवा 1000 स्क्वायर फ़ीट होगी, उसमें बिजली की करंट प्रवाहित कराकर तीन लोगों की निर्मम हत्या किया गया है, जबकि एक का इलाजरत है, जिसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है।

      गांव वाले से पूछने पर बताया कि प्रमोद महतो आपराधिक चरित्र का व्यक्ति है। शराब की तस्करी में कई बार जेल भी जा चुका है। उसकी गांव के दर्जनों लोगों को करंट के द्वारा मारने की बहुत बड़ी योजना थी।

      उन्होंने कहा कि गांव वाले उसके गोरखधंधा का विरोध करते थे। शराब के धंधे को तालाब के आड़ में संचालित करता था। ऐसे जघन्य अपराध की, जितना भी निंदा की जाय वह कम है। अति पिछड़ा संघर्ष आरक्षण मोर्चा तीनों मृतक के परिजनों को 25-25 लाख का मुआवजा और हत्यारे प्रमोद महतो को अविलंब गिरफ्तार करके स्पीड ट्रायल में केस चलाकर फाँसी की सजा दिया जाने की मांग करती है।

      इस मौके पर पार्टी राष्ट्रीय उप कोषाध्य बलराम चंद्रवंशी, पूर्व जिलाध्यक्ष अजित चंद्रवंशी   बिलारी पंचायत के मुखिया हिमांशु पासवान, दीपक चंद्रवंशी, संतोष आदि लोग मौजूद थे।

      TRE-3 पेपर लीक मामले में उज्जैन से 5 लोगों की गिरफ्तारी से नालंदा में हड़कंप

      ACS केके पाठक के भगीरथी प्रयास से सुधरी स्कूली शिक्षा व्यवस्था

      दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक का बजट 2024-25 पर चर्चा सह सम्मान समारोह

      पइन उड़ाही में इस्लामपुर का नंबर वन पंचायत बना वेशवक

      अब केके पाठक ने लिया सीधे चुनाव आयोग से पंगा

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!