अन्य
    Monday, February 26, 2024
    अन्य

      बिहारशरीफ कारगिल पार्क में तोड़फोड़ मामले में पंगु बनी नालंदा पुलिस

      नालंदा दर्पण डेस्क। बिहारशरीफ नगर में दीपनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत कारगिल पार्क में असामाजिक तत्वों ने बीते 12 दिसंबर 2023 की रात शहीद स्मारक को क्षतिग्रस्त करते हुए पूरे पार्क को तहस-नहस कर डाला था।

      Heavy vandalism in Biharsharif Kargil Park Deepnagar police station sleeping a few steps away 1सूचना मिलते ही जिला प्रशासन ने रातो रात क्षतिग्रस्त पार्क को मरम्मत कराकर ठीक करा दिया गया था। लेकिन एक महीने बीत भी अब तक पुलिस असामाजिक तत्वों को पकड़ने में असफल रही है। जबकि आसपास सीसीटीवी कैमरे भी लगे हुए हैं, जिसमें असामाजिक तत्वों की हरकतें कैद भी हुई थी।

      इसकी सूचना मिलते ही पुलिस और जिला प्रशासन की टीम शहीद ए कारगिल पार्क पहुंचकर पूरे मामले की जांच की थी। दीपनगर एवं लहेरी थाने की पुलिस भी मौके पर पहुंची थी। इस घटना को लेकर शहरवासियों में आक्रोश भी था।

      Heavy vandalism in Biharsharif Kargil Park Deepnagar police station sleeping a few steps away 3शहीदों का अपमान किसने किया। कारगिल पार्क के भीतर तोड़फोड़ किसने की। यह अभी तक पहेली बनी हुई है। दीपनगर थानाध्यक्ष सुनील कुमार जायसवाल के अनुसार पुलिस अभी मामले की जांच ही कर रही है !

      बता दें कि देश के अमर जवान शहीदों की याद को लेकर यह स्मारक तत्कालीन रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस सह नालंदा के सांसद ने 2003 में निर्माण कराया था और उद्घाटन किया था।

      BJP upset over vandalism of Kargil Martyr Memorial located in Bihar Sharif Nagarइस पार्क की सुरक्षा को लेकर वन विभाग ने रात्रि प्रहरी के लिए एक नाइट गार्ड की प्रतिनियुक्ति भी की थी। इसके बावजूद तोड़फोड़ की घटना हुई।

      बिडम्बना तो यह है कि अभी तक कारगिल पार्क की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे भी नहीं लगाए गए हैं। पूरी घटना सुयोजित तरीके से की गई थी।

      इस मामले में सदर डीएसपी नुरुल हक भी वहीं पुरानी राग अलापते हैं कि थाना में बदमाशों खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस जांच कर रही है।






      लहेरी थाना क्षेत्र बन रहा साइबर ठगों का अड्डा, 2 गिरफ्तार

      झोलाछाप डॉक्टर ने ली प्रसुता की जान, परिजनों का हंगामा, जांच में जुटी पुलिस

      राजगीर किला मैदान की खुदाई से मौर्यकालीन इतिहास में जुड़ेगा नया अध्याय

      अतिक्रमण से खतरे में बिहारशरीफ की जीवन रेखा पंचाने नदी का अस्तित्व

      राजगीर मकर संक्रांति मेला की तैयारी जोरों पर, यहाँ पहली बार बन रहा जर्मन हैंगर

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!