अन्य
    Sunday, May 26, 2024
    अन्य

      बिहारशरीफ सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में बेड से गिरने से मरीज की मौत

      नालंदा दर्पण डेस्क। बिहारशरीफ सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में एक 50 वर्षीय रोगी की मौत हो गयी। 13 जनवरी से रंजीत कुमार को इलाज के लिए बिहारशरीफ सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रंजीत कुमार को गंभीर बीमारी की शिकायत थी। मृतक रोगी भैंसासुर के निवासी स्व. श्रीराम प्रसाद का पुत्र बताया जाता है।

      खबर है कि इमरजेंसी वार्ड में भर्ती रंजीत कुमार सोने के क्रम में फर्श पर गिर गया। कमजोरी होने के कारण वह उठ न सका। जिसके कारण फर्श पर काफी देर तक कड़ाके की ठंड में पड़ा रहा और उसकी ठंड से तड़प तड़प कर मौत हो गयी।

      हालांकि इस दौरान इमरजेंसी वार्ड में अन्य मरीज के परिजन या फिर अन्य स्वास्थ्यकर्मियों के द्वारा फर्स पर अधेड़ व्यक्ति को उठाने की तकलीफ नहीं की। जिसके कारण फर्श पर तड़प तड़प कर उसकी मौत हो गई। हालांकि डॉक्टर ठंड से मौत की बात को नकार रहे हैं।

      सवाल उठता है कि ऐसी लचर व्यवस्था का जिम्मेदार कौन है। फिलहाल रंजीत कुमार के किसी भी परिजन का पता नही चला है, जिसके कारण लावारिश माना जा रहा था, लेकिन उसकी पहचान हो गयी है।

      इस संबंध में सिविल सर्जन अविनाश कुमार सिंह ने बताया कि रंजीत कुमार को 112 की पुलिस टीम दवारा पांच जनवरी को लाया गया। जिसका इलाज करने के बाद पावापुरी रेफर कर दिया गया था। पुनः इस मरीज को 13 जनवरी को सदर अस्पताल भेज दिया गया। जिसका इलाज किया गया।

      उन्होंने कहा कि इलाज में कोई लापरवाही नहीं बरती गयी है। 18 जनवरी को सुई एवं ऑक्सीजन व दवा नियमित रूप से दी गयी थी। बेड का रड खुल जाने के कारण मरीज फर्स पर गिर गया था। जिसे चिकित्सक के द्वारा उठाया गया।

      कैदी फरारी मामले 3 होमगार्ड बर्खास्त, कार्रवाई की जद में अन्य कई कर्मी-अफसर

      लहेरी थाना क्षेत्र बन रहा साइबर ठगों का अड्डा, 2 गिरफ्तार

      झोलाछाप डॉक्टर ने ली प्रसुता की जान, परिजनों का हंगामा, जांच में जुटी पुलिस

      राजगीर किला मैदान की खुदाई से मौर्यकालीन इतिहास में जुड़ेगा नया अध्याय

      अतिक्रमण से खतरे में बिहारशरीफ की जीवन रेखा पंचाने नदी का अस्तित्व

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!