अन्य
    Friday, February 23, 2024
    अन्य

      खुलासाः एचएम की मनमानी से मैट्रिक की परीक्षा से वंचित हुई छात्रा

      नालंदा दर्पण डेस्क। मैट्रिक परीक्षा के एडमिट कार्ड से वंचित हुए छात्रा की शिकायत पर सिलाव प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय पांकी जांच करने पहुंचे।

      दसवीं कक्षा की छात्रा रिया कुमारी के द्वारा लिखित रूप से शिकायत की गयी थी कि विद्यालय के प्रभारी के द्वारा जानबूझकर मैट्रिक बोर्ड परीक्षा से वंचित कर दिया गया है, मुझे एडमिट कार्ड नहीं दी जा रही है और अवैध राशि भी वसूली जाती है।

      छात्रा के द्वारा इस मामले में जिला स्तरीय शिक्षा विभाग के अधिकारी एवं जिलाधिकारी को भी दिया संज्ञान में दिया गया था। परंतु अब तक किसी भी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई थी। अंततः छात्रा रिया कुमारी ने आखिरकार आत्मदाह करने का मन बना लिया। जिसके बाद पदाधिकारी में हड़कंप मच गया।

      आनन फानन में बीडीओ डॉक्टर उदय कुमार एवं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी मोहम्मद शाहनवाज विद्यालय पहुंचे और पूरे मामले की जांच शुरू की। इस दौरान पाया गया कि विद्यालय के प्रधानाध्यापक मंजू कुमारी एवं कैफे सेंटर के संचालक अमित कुमार के द्वारा जानबूझकर छात्रा के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया गया है।

      जांच में यह भी पाया गया कि रिया कुमारी का फार्म ही ऑनलाइन नहीं किया गया था। हालांकि प्रधानाध्यापक मंजू कुमारी के द्वारा बताया जा रहा था कि कुल 90 छात्रों का वह फॉर्म ऑनलाइन के लिए कैसे संचालक को सौंपा था। उनका लॉगिन पासवर्ड भी उसी के पास था।

      इस संबंध में अमित कुमार से भी पूछताछ किया गया। अमित कुमार का कहना था कि प्रधानाध्यापिका मंजू कुमारी के द्वारा तीन छात्रों का फॉर्म ऑनलाइन नहीं करने की उन्हें आदेश दिया गया था।

      हालांकि मामले की जांच करने पहुंचे बीडीओ डॉक्टर उदय कुमार ने कहा कि पूरे मामले की जांच पड़ताल की गई है।  प्रधानाध्यापक मंजू कुमारी के साथ-साथ सीएसपी संचालक अमित कुमार भी इस मामले में दोषी हैं। दोनों को मिलीभगत से बच्चे के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया गया है।

      जांच में यह भी बताया कि यदि प्रधानाध्यापक के द्वारा जब सीएसपी संचालक को तीन छात्रों का ऑनलाइन करने से मना किया गया और मना करने के बाद भी दो का ऑनलाइन कर दिया गया और रिया का ऑनलाइन नहीं किया गया, जिससे सीएसपी संचालक भी इस मामले में दोषी नजर आ रहे हैं।

      उन्होंने कहा कि बच्चे का भविष्य को बर्बाद नहीं होने दिया जाएग दो माह में उनकी पुनः फॉर्म भरवाया जाएगा। प्रधानाध्यापक के द्वारा जो बातें बताई जा रही है वह उपयुक्त नहीं है।  इस मामले में उनके ऊपर कारवाई करने हेतु जिला शिक्षा पदाधिकारी को प्रेषित किया जा रहा है।







      डीडीसी की उपस्थिति में 34 में 31 जिला परिषद सदस्यों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई

      पत्नी ने अवैध संबंध का विरोध करने पर पति को मार डालाबिहारशरीफ सदर अस्पताल में डीडीसी की जांच में हुआ बड़ा जघन्य खुलासा

      कभी खेतों के सीने को चीरती छुक-छुक गुजरती थी फतुहा-इस्लामपुर छोटी लाइन पर मार्टिन की रेल

      नालंदा डीएम ने 23 जनवरी तक के लिए बढ़ाई स्कूलों में छुट्टी

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!