अन्य
    Tuesday, May 28, 2024
    अन्य

      शिक्षा विभाग में बड़ा घोटाला, NCP ने DEO और DPO का फूंका पुतला

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। नालंदा जिला राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राजकुमार पासवान के नेतृत्व में बिहारशरीफ अस्पताल चौक पर शिक्षा विभाग के कार्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार में लिप्त जिला शिक्षा पदाधिकारी राजकुमार, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना सुजीत कुमार राउत एवं कार्यालय लिपिक अमित कुमार के कार्यों के विरूद्ध अवैध रूप से कमाई गयी सम्पत्तियों की जाँच आर्थिक अपराध इकाई से कराने तथा इनके कार्यकालों की जाँच उच्चस्तरीय टीम बनाकर निगरानी समिति से कराने की मांग को लेकर पुतला दहन किया गया।

      इस अवसर पर राजकुमार पासवान ने बताया कि जबसे जिला शिक्षा पदाधिकारी की पदस्थापना नालंदा जिले में हुयी है, तबसे विभागीय नियमों को धज्जियाँ उड़ाते हुये निजी लाभ में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना सुजीत कुमार के साथ मिलकर खुलेआम लूट मचा रखी हैं।

      उन्होंने बताया कि जिला शिक्षा पदाधिकारी के पत्रांक- 597 दिनांक- 8.2.2024 का उल्लंघन करते हुये मनमानी तरीके से घटिया क्वलिटी का बेंच-डेस्क नीजी कम्पनी से मिलकर विद्यालयों में भेजा गया है, जो अपने आप में जिला शिक्षा पदाधिकारी के आदेश की अवहेलना है।

      उन्होंने बताया कि खरीदारी तथा विद्यालय के सफाई में उपयोग राशि का रातो रात 30 और 31 मार्च को बगैर सामग्री क्रय किये हुए एवं क्रय समिति के बिना स्वीकृति के संवेदकों को मेल में लाकर जबरन प्रधानाध्यापक को दबाव देकर बेंच-डेस्क प्राप्ति का अनुमोदन कराया गया है। जिसमें शिक्षा समिति के सदस्यों को नजरअंदाज करना संवैधानिक नियमों के खिलाफ है।

      उन्होंने कहा कि इस कार्य में कार्यालय लिपिक कि भूमिका भी संदेह के घेरे में है। अगर सम्पूर्ण बिहार में इसकी जाँच कराया जाय तो बहुत बड़ा घोटाला सामने आयेगा। अकेले नालंदा जिले में करीब 5 करोड़ की घोटाला जाँच में प्रकाशित होने की संभावना है।

      उन्होंने बताया कि दूसरी तरफ विभागीय पत्र निदेशक प्राथमिक शिक्षा के कार्यालय ज्ञापांक- 1548 दिनांक- 05.09.2023 के द्वारा 10 सितम्बर 2023 तक प्रमोशन देना था। समय सीमा पार करने के बाद अवैध वसूली करने के लिये शिक्षक प्रोन्नति प्रधानाध्यापक ने वरीय को नजरअंदाज कर पैसे के बल पर मनमाना पोस्टिंग आचार संहिता के पूर्व संध्या पर किया गया है। वह भी प्रोन्नति लिपिक अमित कुमार बिहारशरीफ के नीजी होटल में रात्रि 11 बजे अनिल कुमार प्रधानाध्यापक मध्य विद्यालय साठोपुर बिहारशरीफ ने मिलकर पदस्थापन का खेल खेला गया, जिसकी जाँच श्री अनिल कुमार एवं श्री अमित कुमार का निजी मोबाईल का सीडीआर की से जाँच की जा सकती है।

      उन्होंने कहा कि चुनाव आर्दश आचार संहिता का भी जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं जिला शिक्षा कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना द्वारा घोर उल्लंघन किया जा रहा है।

      उन्होंने कहा कि जहाँ एक ओर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और अपर मुख्य सचिव केके पाठक को ईमानदार का तगमा दिये हैं। वहीं इनके नजर के सामने शिक्षा विभाग में लूट मचा है। उपरोक्त लोगों की सम्पत्ति की जाँच नहीं कराया गया तो न्यायालय तक जाऊंगा।

      इस मौके पर रामदेव पासवान, ब्रहमदेव प्रसाद, आरती कुमारी, सरिता कुमारी, बालमिकी प्रसाद, रामउचित, शंभु कुमार, राजा सिंह, अभिषेक सिंह, मो. आजाद, मो. इमरान खान, मो. शमीम, अजित कुमार, रंजित कुमार, छोटु पासवान, दीपक कुमार, दिपक पासवान, पप्पु पासवान आदि लोगों ने भी भ्रष्ट शिक्षा पदाधिकारी के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने की मांग की और मांगे नहीं माने जाने पर पार्टी द्वारा जन आंदोलन चलाए जाने की घोषणा की।

      एकता फाउंडेशन की घटिया मध्यान भोजन खाने से इन्कार, स्कूली बच्चों का हंगामा

      थरथरी में देसी कट्टा लिए युवक की तस्वीर फिर वायरल, गिरफ्तार

      पांच साल बाद नौकायन से फिर गुलजार हुआ सुभाष पार्क

      लोकसभा चुनाव और पर्व-त्योहार बहुत गरम हैं नालंदा डीएम-एसपी

      अब जीपीएस सिस्टम से यूं सुधरेगी पर्यटक शहर राजगीर की सफाई व्यवस्था

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!