अन्य
    Tuesday, May 28, 2024
    अन्य

      हीट वेव की आशंका की तैयारी में जुटा नालंदा जिला प्रशासन

      “हीट वेव को देखते हुए बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर स्कूल संचालन ससमय करना सुनिश्चित करेंगे। पीएचसी में आवश्यक दवाओं की हो व्यवस्था लू एवं चमकी बुखार से बचाव के लिए आवश्यक दवाओं व संसाधनों की व्यवस्था हर हाल में सुनिश्चित करेंगे…

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। आपदा प्रबंधन के तत्वाधान में संभावित लूं एवं सुखाड़ की पूर्व तैयारी को लेकर डीएम शशांक शुभंकर की अध्यक्षता में जिला, अनुमंडल एवं प्रखंड स्तरीय लू सुखाड़ की तैयारी को लेकर पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक आयोजित की गई।

      Nalanda district administration busy preparing for the possibility of heat wave 1डीएम ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार जिला में हीट वेव की संभावना बनी हुई है। इसी परिपेक्ष्य में संबंधित विभाग के पदाधिकारियों को निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि जहां भी नल-जल योजना का पानी नहीं पहुंच रहा है, उन स्थलों पर चापाकल की मरम्मती, नये चापाकल की व्यवस्था, टैंकर से पानी हर हाल में पहुंचना सुनिश्चित करेंगे।

      सभी अनुमंडल पदाधिकारियों-प्रखंड विकास पदाधिकारियों को डीएम ने निर्देश दिया कि नगर निगम, नगर निकाय क्षेत्र, ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों तक पेयजल उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। आम लोगों को पेयजल की परेशानी न हो, पेयजल की शिकायतों को तुरंत निष्पादित करने का निर्देश दिया गया।

      कार्यपालक अभियंता पीएचईडी को निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि जहां भी नल-जल योजना अक्रियाशील है, उसे तुरंत दुरुस्त करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में जहां भीड़ भाड़ वाले स्थल हैं, उन जगहों पर प्याऊ की व्यवस्था हर हाल में सुनिश्चित करें।

      निर्बाध बिजली आपूर्ति करें सुनिश्चितः आग से क्षति का मुआवजे का शीघ्र करें भुगतान पछुआ हवा के कारण अगलगी की शिकायत प्रायः मिलती रहती हैं। सभी अंचलाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि फसल क्षति, इयर टैग्ड पशुओं, झुग्गी- झोपड़ी, घर क्षति में मुआवजा का लाभ यथाशीघ्र लाभुकों को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। अगलगी की सूचना मिलते ही सभी अंचलाधिकारी ऑन द स्पॉट तुरंत पहुंचें। साथ ही अगलगी का मुआवजा शीघ्र सुनिश्चित करेंगे।

      पशुओं को पीने के पानी के लिए कैटल ट्रफ हर हाल में क्रियाशील रखने का निर्देश दिया गया। फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को रखें क्रियाशील अग्निशमन पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि फायर ब्रिगेड की गाड़ी हर हाल में क्रियाशील रखें। अगलगी की सूचना मिलते ही घटनास्थल पर पहुंचकर समस्या निदान करें। फायर ब्रिगेड की गाड़ियों में पानी की सुविधा तुरंत मुहैया कराने के उद्देश्य से सुरक्षित चिन्हित स्थलों पर कनेक्टर लगाना सुनिश्चित करें।

      कार्यपालक अभियंता विद्युत विभाग को निर्देश दिया गया कि प्राथमिकता के आधार पर बिजली की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करें व बिजली बाधित होने की शिकायतों को तुरंत निष्पादित करना सुनिश्चित करें। ग्रामीण क्षेत्रों में 72 घंटा एवं शहरी क्षेत्रों में 24 घंटा के अंदर खराब ट्रांसफार्मर बदलने की कार्रवाई सुनिश्चित करें। कृषि कार्य के लिए नलकूप मरम्मती व विद्युत कनेक्शन के लिए उन्होंने संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

      डीएम ने कहा कि प्राथमिकता के आधार पर पेयजल व विद्युत से संबंधित शिकायतों के त्वरित निष्पादन के लिए जिलास्तर पर मासिक, अनुमंडल स्तर पर अर्द्ध मासिक एवं प्रखंड स्तर पर साप्ताहिक समीक्षा बैठक सुनिश्चित की जाए।

      पेयजल व विद्युत की शिकायतों का जल्द करें निदानः सभी अनुमंडल पदाधिकारियों एवं प्रखंड विकास पदाधिकारीयों को निर्देश दिया गया कि पेयजल व विद्युत से संबंधित शिकायतों के त्वरित निष्पादन के लिए स्थलीय आपदा की स्थिति में इन नंबरों पर करें संपर्क पेयजल व अगलगी एवं ऐसी किसी भी समस्या के निदान के लिए जिला नियंत्रण कक्ष (दूरभाष संख्या 06112- 233168 / मोबाइल संख्या 8789858336) 24 घंटे क्रियाशील हैं। पेयजल की शिकायत  प्रमंडल बिहारशरीफ दूरभाष संख्या -06112-230071 प्रमंडल हिलसा दूरभाष संख्या- 06111 291501 नियंत्रण कक्ष क्रियाशील है।

      हीट वेव को ध्यान में रखकर करें स्कूल का संचालनः जिला शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि हीट वेव को देखते हुए बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर स्कूल संचालन ससमय करना सुनिश्चित करेंगे। पीएचसी में आवश्यक दवाओं की हो व्यवस्था सिविल सर्जन को डीएमने निर्देश दिया गया कि लू एवं चमकी बुखार से बचाव के लिए सभी पीएचसी स्तर पर आवश्यक दवाओं व संसाधनों की व्यवस्था हर हाल में सुनिश्चित करेंगे।

      उन्होंने निर्देश दिया गया कि लू से ग्रसित मरीजों का स्थानीय स्तर पर इलाज के पश्चात ही रेफर करना सुनिश्चित करें। स्थानीय स्तर पर इलाज के लिए सभी उपलब्ध सुविधाओं को दुरूस्त किया जाये। मरीजों को सही समय पर इलाज से जीवन बचाया जा सकता है। सुखाड़ से संबंधित अनुदान के लिए आपदा संप्रति पोर्टल पर इट्री करना सुनिश्चित करेंगे।

      इस अवसर पर उप विकास आयुक्त, नगर आयुक्त, अपर समाहर्ता आपदा, सभी अनुमंडल पदाधिकारी, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी, प्रभारी पदाधिकारी आपदा, कार्यपालक अभियंता पीएचईडी, पंचायती राज विभाग, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

      ACS केके पाठक का शुक्रगुजार हुआ यह अनुसूचित जाति आवासीय बालिका विद्यालय

      ठेला चालक ने ही सुपारी देकर करायी चंडी निवासी वेंडर साथी की हत्या

      बिहारशरीफ मंडल कारा में कैदी की मौत की होगी न्यायिक जांच

      एकता फाउंडेशन की घटिया मध्यान भोजन खाने से इन्कार, स्कूली बच्चों का हंगामा

      थरथरी में देसी कट्टा लिए युवक की तस्वीर फिर वायरल, गिरफ्तार

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!