अन्य
    Friday, February 23, 2024
    अन्य

      नालंदा जिलाधिकारी ने बैठक कर राजगीर मलमास मेला की तैयारी का लिया जायजा

      सरस्वती कुंड, सरस्वती नदी, वैतरणी नदी एवं वैतरणी घाट का जीर्णोद्धार का कार्य सिंचाई विभाग द्वारा किया जा रहा है। मेला अवधि में साफ सफाई को लेकर विशेष व्यवस्था की जा रही है। इसके लिए अलग से निविदा भी निकाली गई है। लगभग 750 अस्थाई शौचालय मेला क्षेत्र में बनाए जाएंगे...

      बिहार शरीफ (नालंदा दर्पण)। आगामी 18 जुलाई से राजगीर में लगने वाले मलमास मेला की तैयारी को लेकर जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने सभी संबंधित पदाधिकारियों के साथ बैठक की।

      इस बैठक में उपस्थित विभाग के मुख्य अभियंता ने बताया कि जीर्णोद्धार से संबंधित मुख्य कार्य पूरा कर लिया गया है। वर्तमान में फिनिशिंग वर्क चल रहा है। 5 दिनों के अंदर सभी कार्यों को पूरा कर लिया जाएगा।

      सरस्वती कुंड, सरस्वती नदी, वैतरणी नदी एवं वैतरणी घाट का जीर्णोद्धार का कार्य सिंचाई विभाग द्वारा किया जा रहा है।

      मेला अवधि में साफ सफाई को लेकर विशेष व्यवस्था की जा रही है। इसके लिए अलग से निविदा भी निकाली गई है। लगभग 750 अस्थाई शौचालय मेला क्षेत्र में बनाए जाएंगे।

      शौचालयों की साफ सफाई के लिए 24 घंटे तीन अलग-अलग पालियों में सफाई कर्मी एवं सफाई पर्यवेक्षक की व्यवस्था की जाएगी। इसकी मॉनिटरिंग ऐप के माध्यम से की जाएगी। सफाई के पर्यवेक्षण कार्य के लिए स्वच्छताग्रही की भी सेवा ली जाएगी।

      राजगीर के सभी होटल, रेस्टोरेंट एवं दुकानों के संचालकों के साथ भी अलग से बैठक कर साफ सफाई के निर्धारित व्यवस्था बारे में स्पष्ट रूप से जानकारी दी जाएगी।

      इन सभी से अपेक्षा होगी कि अपने प्रतिष्ठान के कचरा प्रबंधन की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे तथा कचरा निर्धारित डस्टबिन में ही जमा करेंगे।

      नगर परिषद के कर्मी जहां से कचरे का उठाव करेंगे। साफ सफाई से संबंधित नियमों का पालन नहीं करने की स्थिति में संबंधित दुकान/ प्रतिष्ठान को बंद भी कराया जा सकता है। मेला क्षेत्र में लगभग 2000 डस्टबिन की व्यवस्था की जाएगी।

      राजगीर एवं मेला क्षेत्र में 5 चिन्हित स्थलों पर गंगा जलापूर्ति योजना के माध्यम से “पेय गंगाजल” की आपूर्ति सुनिश्चित कराई जाएगी।

      वाहन पार्किंग एवं यातायात की सुगम व्यवस्था को लेकर जिला परिवहन पदाधिकारी एवं पुलिस उपाधीक्षक यातायात को आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया।

      वाहन पार्किंग एवं यातायात की सुगम व्यवस्था को लेकर जिला परिवहन पदाधिकारी एवं पुलिस उपाधीक्षक यातायात को आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया। बड़े एवं छोटे वाहनों के पार्किंग के लिए राजगीर के अलग-अलग दिशा में पार्किंग स्थल चिन्हित किए गए हैं।

      कुण्ड क्षेत्र में 24 घंटे बिजली की व्यवस्था रहेगी। इसके लिए दो अलग-अलग लाइन के माध्यम से विद्युत आपूर्ति की जाएगी। साथ ही जनरेटर एवं इनवर्टर की भी व्यवस्था रहेगी।

      नियंत्रण कक्ष, अस्थाई अस्पताल, ट्रैफिक आउटपोस्ट, वॉच टावर, सीसीटीवी कैमरा आदि के लिए स्थल चिन्हित किया गया है। निविदा के माध्यम से एजेंसी का चयन होते ही सभी तरह के कार्य धरातल पर किए जाएंगे।

      बैठक में नगर आयुक्त, उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, सिविल सर्जन, सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता, अनुमंडल पदाधिकारी राजगीर, भूमि सुधार उप समाहर्ता राजगीर, विभिन्न कार्यकारी विभागों के कार्यपालक अभियंता, विभिन्न कोषांग के नोडल जिला स्तरीय पदाधिकारी आदि उपस्थित थे।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!