अन्य
    Sunday, June 23, 2024
    अन्य

      पानी की बर्बादी रोकने के प्रति खुद भी सजग नहीं हैं ग्रामीण

      बेन (रामावतार कुमार)।  बेन प्रखंड क्षेत्र में जहाँ एक तरफ लोग पेयजल संकट से जूझ रहे हैं वहीं दूसरी ओर पानी की बर्बादी भी देखने को मिल रही है। इसे लेकर ग्रामीण अभी भी सजग नहीं हैं।

      लोग गांव में अपना पानी भरने के बाद नल खुला छोड़ दे रहे हैं। जिससे मोहल्ले के दूसरे घरों तक पानी नहीं पहुंच पाता है और पानी की किल्लत बनी रहती है।

      पंसस कुमुद कुमार उर्फ कुन्नूजी, पैक्स अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ बबलू बताते हैं कि लोगों में जागरूकता की कमी है। जिससे पानी की किल्लत पैर पसार रही है। उन्होंने यह भी कहा कि अधिकतर गांव के लोग अपने घरों के नलों को खुला छोड़ देते हैं जिससे पानी की बर्बादी होती रहती है।

      साथ हीं नल जल के जो जगह जगह नल लगे हैं खुले रहते हैं। जिसके कारण अगले मोहल्लों व घरों तक पानी नहीं पहुंच पाता।

      सूत्रों ने बताया कि कुछ लोग तो ऐसे हैं जो पाईप लाईन में छेदकर खेती करते हैं, सब्जी उगाते हैं। इन्हीं सब कारणों से दिन प्रतिदिन पानी की समस्या बढती जा रही है। फिर भी विभाग व प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है।

      विभागीय अधिकारियों की उदासीनता और लापरवाही का खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है। आज के दिनों में भी प्रखंड क्षेत्र के कई गांव वासियों को पानी के लिए जद्दोजहद करनी पड़ रही है। फिर भी लोग पानी की बर्बादी रोकने के प्रति सजग नहीं हैं।

      सच कहा जाय तो पानी की बर्बादी रोकने के प्रति न विभागीय अधिकारी गंभीर है और न हीं प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी।

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!