अन्य
    Tuesday, May 28, 2024
    अन्य

      मातम में बदली खुशियां, 2 दोस्तों की मौत, एक अन्य गंभीर

      चंडी (नालंदा दर्पण)। थरथरी थाना क्षेत्र के मेहतरवा गांव से एक बाइक पर तीन दोस्त सवार होकर पटना दोस्त के शादी समारोह में शामिल होने के लिए जा रहे थे कि इसी बीच पटना के बेलदारी चक गांव के समीप निर्माणाधीन पुल के नीचे उनकी बाइक लुढ़क गई, जिसमें दो युवक की मौत घटनास्थल पर ही हो गई, जबकि एक अन्य युवक गंभीर रूप से जख्मी हो गया।

      मृत युवक मेहतरवा गांव निवासी आशुतोष कुमार उर्फ बबन कुमार और बोचा कुमार की मौत घटनास्थल पर ही हो गई, जबकि अखिलेश कुमार गंभीर रूप से जख्मी हो गए। तीनों आपस में दोस्त थे।

      ग्रामीणों के अनुसार मेहतरमा गांव निवासी आशुतोष कुमार के साथ विरमानी बिंद के 17 वर्षीय पुत्र बोंचा कुमार और अशोक बिंद के 16 वर्षीय पुत्र अखिलेश कुमार गांव के ही दोस्त की शादी में शामिल होने के लिए पटना जा रहे थे। तभी रास्ते में गौरीचक थाना क्षेत्र के शरीफाबाद में निर्माण हो रहे पुल में बाइक असंतुलित होकर गिर गया। इस हादसे के बाद आशुतोष कुमार एवं बोचा कुमार की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। जख्मी युवक अखिलेश कुमार का इलाज गौरीचक के परसनबीघा में चल रहा है।

      मौत की सूचना के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। सूचना मिलते ही घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए एनएमसीएच भेज दिया। जहां से पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दी गई।

      ट्रिपल लोड बाइकर्स हो रहे हैं हादसे के शिकारः शादी-विवाह का मौसम आते ही युवाओं में शादी में शरीक होने के लिए उत्साह जगा रहता है। एक-एक बाइक पर तीन से चार लोग सवार होकर बारात में दिन में तो निकलते ही हैं, रात में भी लापरवाह होकर बाइक चलाते हैं, जिससे आए दिन बाइक सवार दुर्घटना के शिकार हो जाते हैं और मौत भी हो जाती है।

      जिले का ऐसा कोई सड़क नहीं है, खासकर शहर की सड़कों पर तो फर्राटे के साथ ट्रिपल लोड या यूं कहें की एक ही बाइक पर चार लोग सवार होकर बाइक को दौड़ाते हैं। शहर में तो पुलिस गस्ती गाड़ी भी घूमती रहती है। चौक-चौराहा पर ट्रैफिक पुलिस की तैनाती भी रहती है, लेकिन वैसे बाइक सवारों को कोई रोकने-टोकने वाला कोई नहीं मिलता है।

      जबकि परिवहन एक्ट के तहत एक बाइक पर डबल लोड से ज्यादा सवार रहते हैं तो वैसे लोगों से प्रति सवार 1000 रुपये जुर्माना लेने का प्रावधान है। पुलिस की कार्रवाई और जुर्माना वसूली नहीं होने से वैसे बाइक सवारों का हौसला बुलंद रहता है।

      पइन उड़ाही में इस्लामपुर का नंबर वन पंचायत बना वेशवक

      अब केके पाठक ने लिया सीधे चुनाव आयोग से पंगा

       अब सरकारी स्कूलों के कक्षा नौवीं में आसान हुआ नामांकन

      गर्मी की छुट्टी में शिक्षकों के साथ बच्चों को भी मिलेगा कड़ा टास्क

      बिहार को मिले 702 महिलाओं समेत 1903 नए पुलिस एसआइ

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!