अन्य
    Thursday, May 30, 2024
    अन्य

      ACS केके पाठक के प्रयास से स्कूली शिक्षा में दिख रहा सुधार

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। बिहार के शिक्षा विभाग के मुख्य अपर सचिव केके पाठक ने शिक्षा क्षेत्र में सुधार करने के लिए कठिन परिस्थितियों का सामना किया है। उनका प्रयास शिक्षा में सुधार करने का एक महत्वपूर्ण कदम है और इससे बिहार के बच्चों को बेहतर शिक्षा की सुविधा मिलेगी।

      शिक्षा विभाग के मुख्य अपर सचिव केके पाठक के प्रयास के बाद बिहार की स्कूली शिक्षा में कई सुधार देखने को मिल रहे हैं। यहां हम उन प्रमुख सुधारों के बारे में थोड़ी जानकारी देंगे:

      शिक्षा के लिए संसाधनों का वितरणः 

      एक महत्वपूर्ण सुधार शिक्षा के लिए संसाधनों का वितरण है। अब बिहार के स्कूलों में आवश्यक संसाधनों की कमी को पूरा करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। इससे छात्रों को बेहतर शिक्षा की सुविधा मिलेगी और वे अधिक से अधिक ज्ञान प्राप्त कर सकेंगे।

      शिक्षकों की भर्तीः

      दूसरा महत्वपूर्ण सुधार शिक्षकों की भर्ती है। पिछले कुछ वर्षों में बिहार में शिक्षकों की कमी थी, जिसके कारण छात्रों को उचित शिक्षा नहीं मिल पा रही थी। शिक्षा विभाग ने शिक्षकों की भर्ती के लिए प्रक्रिया को तेज कर दिया है और अब नए शिक्षकों की नियुक्ति हो रही है। इससे स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार हुआ है।

      शिक्षा के लिए टेक्नोलॉजी का उपयोगः

      तीसरा महत्वपूर्ण सुधार शिक्षा के लिए टेक्नोलॉजी का उपयोग है। शिक्षा विभाग ने शिक्षा में टेक्नोलॉजी का उपयोग करने के लिए कई पहल की है। अब बिहार के स्कूलों में सामरिक शिक्षा के लिए कंप्यूटर लैब और इंटरनेट की सुविधा मिल रही है। इससे छात्रों को नवीनतम ज्ञान प्राप्त करने का मौका मिल रहा है और उनकी शिक्षा का स्तर भी बढ़ रहा है।

      अब हम कह सकते हैं कि बिहार के शिक्षा विभाग के मुख्य अपर सचिव के पाठक के प्रयास से स्कूली शिक्षा में काफी सुधार हुआ है। इन सुधारों के चलते बिहार के बच्चों को बेहतर शिक्षा की सुविधा मिल रही है और उनकी शिक्षा का स्तर भी बढ़ रहा है। इससे उनका भविष्य सुरक्षित हो रहा है और वे अधिक से अधिक सफलता की ओर बढ़ रहे हैं।

      ट्वीटर X से Video Story Reels डाउनलोड करने का आसान तरीका

      फेसबुक से Video Story Reels Download करने का आसान तरीका

      जर्जर सड़क को लेकर भड़के दर्जनों गांव के ग्रामीण, चुनाव में देंगे वोट की चोट

      खेतों में पराली न जलाएं किसान, समझें नुकसान, होगी कार्रवाई

      काम नहीं तो वोट नहीं, चुनावी मुद्दा बना यह चचरी पुल

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!